लखनऊ. आज कांग्रेस ने उत्तर प्रदेश के लिए अपने महासचिव का ऐलान किया. कांग्रेस ने एक बड़ा दांव खेलते हुए प्रियंका गांधी को रानजीति में उतारा है और उन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश का महासचिव बनाया है. पहले प्रियंका गांधी केवल यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की संसदीय सीट रायबरेली और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की संसदीय सीट अमेठी के लिए प्रचार करती थी और वहीं तक सीमित थीं. अब वो खुद राजनीति में उतर गई हैं. इसी पर राहुल गांधी ने अपने विचार भी रखे हैं. बहन के राजनीति में आने पर और कांग्रेस के महासचिव बनने पर उन्होंने खुशी जाहिर की है.

राहुल गांधी ने इस पर कहा कि, ‘मुझे निजी तौर पर बहुत खुशी हो रही है कि वो अब मेरे साथ काम करेंगी, वो बहुत कर्मठ हैं. ज्योतिरादित्य सिंधिया भी बहुत गतिशील नेता हैं. भाजपा वाले घबराए हुए हैं.’ बता दें कि ज्योतिरादित्य सिंधिया को कांग्रेस ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश का महासचिव बनाया है. वहीं राहुल गांधी ने भाजपा पर भी निशाना साध दिया है. राहुल गांधी ने प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया की तारीफ की. उन्होंने कहा, ‘प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिंधिया बेहद ताकतवर नेता हैं. हमें उत्तर प्रदेश की राजनीति में बदलाव लाने के लिए युवा नेताओं की ही जरूरत थी.’

वहीं राहुल गांधी ने भाजपा के लिए कहा कि बीजेपी इस समय डरी हुई है और उन्हें हराने के लिए हम हमेशा फ्रंटफुट पर खेलेंगे. इसके अलावा राहुल गांधी ने उत्तर प्रदेश में हुए सपा-बसपा गठबंधन पर भी अपने विचार रखे. उन्होंने कहा, ‘हमारी मायावती जी और अखिलेश जी से कोई दुश्मनी नहीं है बल्कि मैं उनकी बहुत इज्जत करता हूं. हम जब भी मुमकिन हो उनका साथ देने के लिए तैयार हैं. आखिरकार हम तीनों का मकसद तो भाजपा को हराना ही है, लेकिन हां हमारी लड़ाई कांग्रेस की विचारधारा को बचाने की भी है.’

Priyanka Gandhi Congress General Secretary: प्रियंका गांधी की राजनीति में एंट्री, बनीं कांग्रेस महासचिव, मिला पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभार

Priyanka Gandhi Profile: 16 साल की उम्र में दिया था पहला भाषण, दिखती है दादी इंदिरा गांधी की छवि, जाने प्रियंका गांधी से जुड़ी कुछ दिलचस्प बातें