नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजें से पहले पूर्व राष्ट्रपति और भारत रत्न प्रणब मुखर्जी ने चुनाव के दौरान ईवीएम के साथ छेड़छाड़ को लेकर पर उठ रहे सवालों पर चिंता जताते हुए लिखा है कि वे वोटर्स के मतदान के फैसले के साथ छेड़छाड़ की रिपोर्ट्स से बेहद चिंतित हैं. ईवीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी पूरी तरह से चुनाव आयोग की है, जिसने सभी मशीनें अपनी निगरानी में रखी हुई हैं. पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने कहा कि देश में किसी भी तरह की कोई ऐसी स्थिती नहीं पैदा नहीं होनी चाहिए, जब कोई हमारे लोकतंत्र को चुनौती दे सके. जनता का मत सर्वोपरि है और इसे किसी भी संदेह के दायरे से बाहर रखना चाहिए.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के सातवें चरण की वोटिंग पूरी होने की बाद पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने आगे कहा कि हमारी संवैधानिक संस्थाओं में विश्वास रखने वाले शख्स के तौर पर मेरा विचार है कि संवैधानिक संस्थाओं में काम करने वाले लोग तय करते हैं कि वो संस्था की तरह काम करेगी. भारतीय चुनाव आयोग की सत्यनिष्ठा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी है कि वो सभी तरह की संदेह को दूर करे.

सोमवार को एक किताब विमोचन के दौरान चुनाव आयोग की तारीफ की थी. बुक लॉन्च के दौरान प्रणब मुखर्जी ने कहा कि देश में चुनाव की प्रक्रिया बेहतरीन तरीके से पूरी हुई है. प्रणब मुखर्जी ने आगे कहा कि पिछले चुनाव आयुक्त (ओपी रावत) से लेकर तत्कालीन आयुक्त सुनील अरोड़ा के कार्यकाल में भी आयोग शानदार काम कर रहा है. कांग्रेस नीत यूपीए कार्यकाल में वित्त मंत्री रह चुके प्रणब मुखर्जी ने आगे कहा कि लोकतंत्र अगर आगे बढ़ा है तो उसका श्रेय चुनाव आयुक्तों को जाता है, जिन्होंने अपना कार्य बखूबी किया है.

Bharat Ratna Pranab Nanaji Bhupen: प्रणब मुखर्जी, नानाजी देशमुख और भूपेन हजारिका को भारत रत्न, गणतंत्र दिवस से पहले नरेंद्र मोदी सरकार का बड़ा ऐलान

Lok Sabha Elections 1951-52 to 2019 Hyderabad Andhra Pradesh Parliamentary Seats Results Winners List: पहले हैदराबाद और बाद में आंध्र प्रदेश में 1951 से 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस, बीजेपी, टीडीपी, वाईएसआर समेत सभी पार्टियों को कितनी सीट और कितना वोट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App