लखनऊ. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए देश की सभी राजनीतिक पार्टियों ने तैयारी करनी शुरू कर दी है. एक तरफ नरेंद्र मोदी सरकार वोटर्स को लुभाने की हर संभव कोशिश में लगी है तो वहीं विपक्षी दल महागठबंधन बीजेपी को हराने के लिए महागठबंधन की तैयारी कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी का गढ़ मानी जाती है. 2014 के आम चुनाव में कन्नौज से समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव ने मायावती की बसपा के निर्मल तिवारी को हराया था. वहीं भाजपा सुब्रत पाठक तीसरे नंबर पर रहे थे.

गौरतलब है कि 2014 के चुनाव में कन्नौज लोकसभा सीट पर कुल 18 लाख 8 हजार 886 वोटर्स थे. जिनमें समाजवादी पार्टी की उम्मीदवार डिंपल यादव को 4 लाख 88 हजार 946 वोट मिले. वहीं दूसरी नंबर पर रहे बीजेपी के सुब्रत पाठक को 4 लाख 68 हजार 982 संतोष करना पड़ा. बहुजन समाज पार्टी के उम्मीदवार निर्मल तिवारी को 1 लाख 27 हजार 698 और अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार मात्र 4 हजार 841 वोट मिले.

अगर वोट प्रतिशत की बात करें तो सपा की डिंपल यादव को 43.89 फीसदी वोट मिले. वहीं बीजेपी के सुब्रत पाठक को 42.10 प्रतिशत वोट मिले. बसपा के निर्मल तिवारी को मात्र 11.46 फीसदी लोगों ने अपना मत दिया. बता दें कि यूपी की कन्नौज समाजवादी पार्टी की प्रमुख सीट है. इस सीट से सबसे पहले सांसद डॉक्टर राममनोहर लोहिया बने जिनकी विचारधारा पर सपा बनाई गई थी. इस सीट से यूपी के पूर्व सीएम मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव भी सांसद रह चुके हैं. साल 1996 से लगातार यहां सपा का झंडा फहर रहा है.

Rae Bareli Lok Sabha Election 2014 Winner: कांग्रेस के गढ़ रायबरेली लोकसभा सीट से 2014 में सोनिया गांधी ने बीजेपी के अजय अग्रवाल को दी थी करारी शिकस्त

Azamgarh Lok Sabha Election 2014 Winner: आजमगढ़ लोकसभा सीट पर सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने बीजेपी के रमाकांत यादव और बसपा के शाह आलम को दी थी मात

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App