नई दिल्ली. Election Commission Brand Ambassador: देश से वोट देने की अपील करने वाले निर्वाचन आयोग के ब्रांड अम्बेसडर राहुल द्रविड़ खुद ही वोटर नहीं है. फिलहाल किसी वोटर लिस्ट में राहुल का नाम नहीं है. राहुल ने अपना घर बदलने के बाद नए पते पर वोटर के रूप में रजिस्ट्रेशन कराने के लिए अब तक अपनी ओर से कोई कदम नहीं उठाया.

कर्नाटक के मुख्य निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक बंगलुरू में राहुल के घर पर आयोग की टीम कई बार गई भी पर राहुल अपने नए वोटर रजिस्ट्रेशन फार्म पर दस्तखत करने और फोटो खिंचवाने तक का वक्त नहीं निकाल पाए. आयोग के लिए ये झेंपने वाली स्थिति कि ब्रांड अम्बेसडर को ही फुर्सत नहीं वोटर कार्ड बनवाने की लेकिन चले हैं नेशन प्राइड की अपील करने!

यही कारण है कि राहुल द्रविड़ इस बार लोकसभा चुनाव 2019 में अपना वोट नहीं डाल पाएंगे. पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान राहुल द्रविड़ के लोकसभा क्षेत्र में 18 अप्रैल को लोकसभा चुनाव होने हैं लेकिन मतदाता सूची में उनका नाम नहीं है. इस बारे में एक वरिष्ठ मतदान अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि राहुल द्रविड़ ने समय सीमा खत्म होने से पहले ट्रांसफर होने के बाद मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए आवेदन जमा नहीं किया.

बता दें राहुल द्रविड़ ने कुछ समय पहले अपना पता बदला है. उनका नाम पहले बैंगलोर सेंट्रल लोकसभा क्षेत्र के मतदाताओं की सूची में था. इस क्षेत्र के इंदिरा नगर इलाके में वो अपने पैतृक घर में रहते थे. इसके बाद राहुल ने अपना घर बदला और वो उत्तरी बेंगलुरू के मलेश्वरम रहने लगे. नए घर में जाने के बाद उन्होंने इस निर्वाचन क्षेत्र की मतदाता सूची में बतौर वोटर रजिस्टर नहीं किया. मतदाता सूची में नाम दर्ज करवाने की आखिरी तारीख 16 मार्च थी.

Dharmendra Election Campaign for Hema Malini: पत्नी हेमा मालिनी के समर्थन में धर्मेंद्र ने की रैली, कहा-गांव वालो बसंती को ही वोट करना नहीं तो टंकी पर चढ़कर मौसी को बुला लूंगा

Political parties Funds Report: राजनीतिक चंदे के तौर पर बसपा को 670, सपा को 471, कांग्रेस को 196, बीजेपी को 82 और आप को सबसे कम 3 करोड़ रुपये मिलने का अनुमान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App