लखनऊः अगले साल 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए गठबंधन के की खबरें तेज भले ही हों लेकिन अभी ये साफ नहीं हो पाया है कि कौन सी विपक्षी पार्टी कितनी और किन सीटों पर चुनाव लड़ेगी. हालांकि इससे पहले ही कांग्रेस ने यूपी में भारतीय जनता पार्टी की सरकार को मात देने के लिए ग्राउंडवर्क शुरू भी कर दिया है. सूत्रों की मानें तो यूपी की 24 सीटों पर कांग्रेस की नजर बनी हुई है. बता दें कि अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं जिनको लेकर कांग्रेस, सपा, बसपा ने बीजेपी हराने के लिए कोशिशें अभी से तेज कर दी हैं

इस पूरे मामले पर यूपी कांग्रेस कमेटी का कहना है कि अभी ये 24 सीटें फाइनल नहीं है और हम बीजेपी को हराने के लिए सीटों को लेकर समझौता करने को भी तैयार हैं. भले ही यूपी में महागठबंधन के तहत सीटों का बंटवारा साफ ना हुआ हो लेकिन इससे पहले हमने ग्राउंडवर्क शुरू कर दिया है. कौन सी सीटें किसके पास होंगी ये साफ होने तक हम चुप नहीं बैठ सकते. इसलिए हमने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं.

इन सीटों पर नजर

उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सूत्रों की मानें तो जिन 24 सीटों पर कांग्रेस की नजर है उनमें अमेठी, रायबरेली, सुल्तानपुर, बाराबंकी, धौहारा, प्रतापगढ़, कानपुर, उन्नाव, कुशीनगर, मुरादाबाद, बरेली, लखनऊ, वाराणसी, इलाहाबाद, फर्रुखाबाद, सहारनपुर, जौनपुर, मथुरा, फैजाबाद, फतेहपुर सीकरी आदि सीटें हैं. वहीं महागठबंधन की औपचारिक घोषणा के बारे में कांग्रेस का कहना है कि इसका ऐलान मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान विधानसभा चुनाव के रिजल्ट के बाद किया जाएगा. 

यह भी पढ़ें- 2019 लोकसभा चुनाव में कांग्रेस और राहुल गांधी की चुनावी रणनीति में इमोशनल टच देंगे हार्वर्ड के प्रोफेसर स्टीव जार्डिंग!

अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी से महागठबंधन की चर्चा के बीच क्या मायावती की बीएसपी उत्तर प्रदेश में अकेले 80 सीट लड़ने की तैयारी कर रही हैं ?