नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 31 अगस्त को कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए रवाना होंगे. कांग्रेस पार्टी के नेताओं का कहना है कि वह 12 सितंबर वापस आएंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार राहुल अपनी यह यात्रा नेपाल से नहीं बल्कि चीन के रास्ते से करेंगे. राहुल गांधी खुद को कर्नाटक चुनाव के दौरान शिव भक्त बता चुके हैं. राहुल गांधी मानसरोवर यात्रा जाने के पीछे वजह ये है कि उन्होंने कर्नाटक चुनाव के दौरान मानसरोवर यात्रा का वादा किया था.

दरअसल कर्नाटक विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार प्रसार में बिजी राहुल गांधी को भगवान शिव की याद आई थी. जब वह अप्रैल माह में दिल्ली से कर्नाटक जाते वक्त विमान में आई तकनीकी खराबी के बाद दिल्ली के एक समारोह में कहा था कि उस दौरान हादसा होते होते टला जिस दौरान मुझे भगवान शिव याद आ गए. इसीलिए आने वाले दिनों में वह कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर जाएंगे.

कांग्रेस नेताओं ने बताया कि उनका ये सारणी तभी बन चुकी थी जब वह जर्मनी दौरे पर थे. राजनीतिक पंडित राहुल गांधी की इस यात्रा को लोकसभा चुनाव 2019 से जोड़कर देख रहे हैं. जानकारों का कहना है कि राहुल गांधी हिंदू वोट बैंक को आकर्षित करने के लिए इस यात्रा पर जा रहे हैं. बता दें इन दिनों राहुल गांधी केरल में बाढ़ पीड़ितों से मिल रहे हैं जहां इन्होंने बाढ़ इलाकों का जायजा लिया.

राफेल पर राहुल और अरुण जेटली के बीच ट्विटर वॉर, JPC से जांच की मांग पर वित्त मंत्री ने याद दिलाई बोफोर्स जांच रिपोर्ट

राफेल डील को लेकर कांग्रेस पर अरुण जेटली का पलटवार, कहा- झूठ बोल रहे राहुल गांधी, 9 फीसदी सस्ते मिले एयरक्राफ्ट

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App