कोलकाता/दिल्ली. 2019 लोकसभा चुनावों में पश्चिम बंगाल पूरे देश से अलग खड़ा है. अब तक हुए छह चरणों के चुनाव में बंगाल में सबसे ज्यादा वोटिंग हुई है और इसी दौरान सबसे ज्यादा चुनावी हिंसा भी बंगाल में ही हुई है. मंगलवार को पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान जमकर बवाल हुआ. पहले बीजेपी के पोस्टर फाड़ दिए गए, इसके बाद कोलकाता के विद्यासागर कॉलेज के पास टीएमसी और बीजेपी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. अमित शाह के वाहन पर डंडे फेंके गए. पुलिस ने इस दौरान लाठीचार्ज भी किया जिसके बाद रोड शो खत्म कर दिया गया. देर रात पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी उस इलाके में गईं जहां हिंसा हुई थी. बीजेपी ने चुनाव आयोग से इसकी शिकायत की है. आज बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह इस बाबत प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे. वहीं तृणमूल कांग्रेस ने चुनाव आयोग से मिलने का समय मांगा है. वहीं ममता बनर्जी भी आज विद्यासागर कॉलेज में विरोध प्रदर्शन करेंगी.

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने भाजपा एवं उसके कार्यकर्ताओं के बीच हुई झड़पों के दौरान बांग्ला लेखक एवं दार्शनिक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा गिराने के मुद्दे पर चुनाव आयोग से मुलाकात का समय मांगा है. टीएमसी ने ट्वीट किया, “डेरेक ओब्रायन, सुखेंदु शेखर राय, मनीष गुप्ता, नदीमुल हक वाली तृणमूल संसदीय टीम कोलकाता में शाह के रोड शो के बाद बंगाल की संपदा पर हुए हमले को लेकर चुनाव आयोग से मुलाकात करना चाहती है. बीजेपी के बाहरी गुंडों ने आगजनी की और विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा को तोड़ दिया.” पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर मंगलवार को तीखा हमला बोलते हुए कहा कि वह क्या भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता. ममता बनर्जी ने उत्तर कोलकाता स्थित विद्यासागर कॉलेज का दौरा करने के बाद संवाददाताओं से कहा, ‘अमित शाह खुद को क्या समझते हैं? क्या वह सबसे ऊपर हैं? क्या वह भगवान हैं जो उनके खिलाफ कोई प्रदर्शन नहीं कर सकता? वे इतने असभ्य हैं कि उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़ दी. वे सभी बाहरी लोग हैं. बीजेपी मतदान वाले दिन के लिए उन्हें लाई है.’

चुनाव आयोग के पास पहले बीजेपी पहुंची फिर TMC

बीजेपी ने मंगलवार को चुनाव आयोग से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को राज्य में चुनाव प्रचार से रोकने का अनुरोध किया और आरोप लगाया कि वहां ‘संवैधानिक तंत्र’ ध्वस्त हो गया है. कोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान हिंसा और आगजनी की घटना के बाद केन्द्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और मुख्तार अब्बास नकवी सहित पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल चुनाव आयोग पहुंचा और राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की.
वहीं अमित शाह ने कहा, ‘टीएमसी के गुंडों ने मुझ पर हमला करने की कोशिश की. ममता बनर्जी ने हिंसा भड़काने का प्रयास किया. लेकिन मैं सुरक्षित हूं.’ शाह ने कहा कि झड़पें होने के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही. उन्होंने कहा कि पुलिस ने उन्हें बताया था कि रोड शो की इजाजत कॉलेज के पास समाप्त होती है और उन्हें स्वामी विवेकानंद के बिधान सारणी स्थित पैतृक आवास पर ले जाया जाएगा. साथ ही शाह ने दावा किया, ‘वे (पुलिस) नियोजित मार्ग से हट गए और उस रास्ते पर ले गए जहां ट्रैफिक जाम था. मुझे श्रद्धांजलि देने के लिए विवेकानंद के आवास पर नहीं जाने दिया गया और मैं इससे दुखी हूं.’

ममता ने कहा अमित शाह को ‘गुंडा’
ममता बनर्जी ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए शाह को ‘गुंडा’ बताया. उन्होंने शहर के बेहाला की रैली में कहा, ‘अगर आप विद्यासागर तक हाथ ले जाते हैं तो मैं आपको गुंडे के अलावा क्या कहूंगी. मुझे आपकी विचारधारा से घृणा है, मुझे आपके तरीकों से नफरत है.’ साथ ही उन्होंने विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा तोड़े जाने के खिलाफ गुरुवार को एक विरोध रैली की घोषणा की.
विद्यासागर कॉलेज के प्रधानाचार्य गौतम कुंडु ने कहा, ‘बीजेपी समर्थक पार्टी का झंडा लिये हमारे दफ्तर के अंदर घुस आए और हमारे साथ बदसलूकी करने लगे. उन्होंने कागज फाड़ दिया, कार्यालय एवं संघ के कक्षों में तोड़फोड़ की और जाते वक्त विद्यासागर की आदम कद प्रतिमा तोड़ दी. उन्होंने दरवाजे बंद कर दिये और मोटरसाइकलों को आग के हवाले कर दिया.’ साथ ही उन्होंन कहा कि बीजेपी समर्थकों ने कुछ छात्रों को चोटिल कर दिया.

बीजेपी नेताओं ने खोला ममता के खिलाफ मोर्चा

केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में कोई लोकतंत्र नहीं है.’ केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इस हिंसा की निंदा करने के साथ ही कहा कि क्या पश्चिम बंगाल को ‘गैंगस्टरों की सरकार’ चला रही है. उन्होंने ट्वीट किया कि 19 मई के अंतिम चरण में राज्य में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष लोकसभा चुनाव कराने के लिए सभी निगाहें अब चुनाव आयोग पर हैं

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस ने भी इस मुद्दे पर ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा, ” पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र की हत्या. हमारे माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली पर हुए हमले की कड़ी निंदा करता हूं. चुनाव आयोग से मेरा अनुरोध है कि इसे गंभीरता से लिया जाए.”

अब आगे क्या..

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज पश्चिम बंगाल हिंसा पर प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. वहीं बीजेपी नेता सुबह 10.30 बजे दिल्ली के जंतर-मंतर पर विरोध प्रदर्शन करेंगे.

वहीं आज पश्चिम बंगाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो रैलियां होने जा रही हैं. पीएम मोदी बंगाल के बसीरहाट और डायमंड हार्बर में दो चुनावी रैलियों को संबोधित करेंगे.

वहीं तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने भी तीन वीडियो ट्वीट किये हैं.  उन्होंने इन वीडियो के माध्यम से यह सिद्ध करने की कोशिश की है कि कोलकाता में हिंसा करने वाले बीजेपी के कार्यकर्ता थे.

लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में मुकाबला हिंसक होता जा रहा है. पश्चिम बंगाल से शुरू हुआ बवाल खत्म होता नजर नहीं आता. चुनाव के आखिरी चरण में भी बंगाल में वोटिंग होनी है. आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बंगाल में दो सभाओं को संबोधित करेंगे. इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को भी बंगाल में रैली की इजाजत नहीं मिली थी. बीजेपी और टीएमसी अब आमने-सामने हैं.

Amit Shah Road Show BJP TMC Clash: कोलकाता में अमित शाह के रोड शो में हंगामा, बीजेपी और टीएमसी के कार्यकर्ता भिड़े

Narendra Modi Exclusive India News NewsX Interview: पश्चिम बंगाल में चुनावी हिंसा पर बोले पीएम नरेंद्र मोदी- पत्रकारों पर हमले के बाद जागी देश की मीडिया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App