आजमगढ़. उत्तर प्रदेश की हॉट लोकसभा सीट में एक आजमगढ़ सीट से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2,59,874 वोटों से बीजेपी कैंडिडेट भोजपुरी फिल्मों के सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को हरा दिया है. अखिलेश यादव को आजमगढ़ लोकसभा सीट पर हुए चुनावी दंगल में 6 लाख 21 हजार 578 वोट हासिल हुए थे. दूसरी ओर भाजपा की ओर से चुनावी मैदान में उतरे दिनेश लाल यादव निरहुआ को 3 लाख 61 हजार 704 वोट प्राप्त हुए. इसके अलावा प्रतिशत के तहत यूपी की आजमगढ़ लोकसभा सीट के रिजल्ट पर नजर डाली जाए तो उसमें सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के लिए सबसे ज्यादा 60.4 प्रतिशत वोटिंग हुई. तो वहीं भाजपा प्रत्याशी दिनेश लाल यादव निरहुआ 35.15 प्रतिशत वोटों पर अपनी छाप छोड़ पाए.

आजमगढ़ सीट उस तरह से समाजवादी पार्टी का गढ़ नहीं है जिस तरह की पारंपरिक सीट मैनपुरी या कन्नौज रही है जहां से मुलायम सिंह यादव और डिंपल यादव चुनाव मैदान में थे. हालांकि फिर भी अखिलेश यादव यूपी के मुख्यमंत्री रह चुके हैं और समाजवादी पार्टी की कमान उन्हीं के हाथों में है. इसका फायदा उन्हें इस चुनाव में भी मिला. साथ ही यूपी में सपा-बसपा और आरएलपी के बीच हुए महागठबंधन के बाद इस सीट पर अखिलेश यादव की जीत के कयास लगाए जा रहे थे. आजमगढ़ में कभी सपा, कभी बसपा और कभी भाजपा जीतती रही है. 2014 में मुलायम सिंह यादव आजमगढ़ से चुनाव लड़े थे और कभी सपा के टिकट पर सांसद बने बीजेपी कैंडिडेट रमाकांत यादव को हराया था. इस बार मुलायम सिंह मैनपुरी चले गए जबकि उनके बेटे अखिलेश यादव खुद आजमगढ़ से लड़े. अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव कन्नौज से फिर चुनाव लड़ीं लेकिन हार गईं. 

2014 के लोकसभा चुनाव में सपा के तत्कालीन अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने करीब 70 हजार वोट के अंतर से बीजेपी के रमाकांत यादव को हराकर ये सीट जीती थी. इससे पहले 2009 का चुनाव रमाकांत यादव बीजेपी के टिकट पर जीते थे और उससे भी पहले वो सपा और बसपा दोनों के टिकट पर इस सीट से लोकसभा जा चुके हैं. अखिलेश यादव ने चुनाव प्रचार के आखिरी दिन आजमगढ़ में अपनी रैली रद्द कर दी थी और इसके लिए प्रशासन पर दोष मढ़ा था. बीजेपी कैंडिडेट दिनेश लाल यादव निरहुआ ताल ठोंक कर दावा कर रहे थे कि कोई माई का लाल उनको हरा नहीं सकता. लेकिन नतीजे आने के बाद उन्हें बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा. ज्यादातर एग्जिट पोल में आजमगढ़ सीट पर अखिलेश यादव की जीत की संभावना जताई जा रही थी. हालांकि पार्टी के तौर पर देखें तो उत्तर प्रदेश में सपा का प्रदर्शन नाकाफी साबित हुआ. पिछले चुनाव की तरह इस बार भी पार्टी सिर्फ 5 लोकसभा सीटों पर ही जीत दर्ज करा पाई और खुद डिंपल यादव भी चुनाव हार गईं.

आजमगढ़ लोकसभा चुनाव परिणाम 2019-

O.S.N. Candidate Party EVM Votes Postal Votes Total Votes % of Votes
1 Akhilesh Yadav Samajwadi Party 619594 1984 621578 60.4
2 Dinesh Lal Yadav Nirahua Bharatiya Janata Party 360255 1449 361704 35.15
3 Anil Singh Rashtriya Ulama Council 6761 2 6763 0.66
4 Abhimanyu Singh Sunny Suheldev Bharatiya Samaj Party 10077 1 10078 0.98
5 Arvind Kumar Pandey Nagrik Ekta Party 947 2 949 0.09
6 Ehsan Ahmed Naitik Party 976 0 976 0.09
7 Pawan Singh Samrat Aam Janta Party (India) 1106 0 1106 0.11
8 Pramod Tiwari Janhit Kisan Party 3148 0 3148 0.31
9 Mohinder Kumar Sarvshreshth Dal 2899 2 2901 0.28
10 Gorakhram Nishad Independent 1247 3 1250 0.12
11 Gaurav Singh Independent 1431 1 1432 0.14
12 Budhi Ram Independent 2098 0 2098 0.2
13 Rajaram Gond Independent 1930 1 1931 0.19
14 Rajiv Talwar Independent 2203 1 2204 0.21
15 Dr. Rajeev Pandey Independent 3737 2 3739 0.36
16 NOTA None of the Above 7239 16 7255 0.7
  Total   1025648 3464 1029112