नई दिल्ली. लोकसभा चुनाव 2019 को लेकर दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के गठबंधन को लेकर राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल के बीच जंग छिड़ गई है. कांग्रेस अध्यक्ष के राहुल गांधी ने सोमवार को ट्वीट कर लिखा कि उनकी पार्टी आप को दिल्ली में 7 में से 4 लोकसभा सीटें देने को तैयार है. लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर यू-टर्न ले लिया है. राहुल गांधी ने बताया कि उनकी तरफ से दिल्ली में बीजेपी के खिलाफ आप-कांग्रेस के गठबंधन को लेकर दरवाजे अभी भी खुले हैं. इसके बाद अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर राहुल गांधी को आड़े हाथों ले लिया है. केजरीवाल ने कहा कि राहुल गांधी गठबंधन करने के इच्छुक नहीं है बल्कि दिखावा कर रहे हैं.

अरविंद केजरीवाल ने लिखा कि ‘राहुल गांधी कौनसे यू-टर्न की बात कर रहे हैं? अभी तो गठबंधन को लेकर बातचीत चल रही है. आपका ट्वीट दिखाता है कि गठबंधन आपकी इच्छा नहीं मात्र दिखावा है. मुझे दुःख है आप बयानबाजी कर रहे हैं. आज देश को मोदी-शाह के खतरे से बचाना है. दुर्भाग्य है कि आप उत्तर प्रदेश (यूपी) और अन्य राज्यों में भी मोदी विरोधी वोट बांट कर पीएम मोदी की मदद कर रहे हैं.’

साथ ही दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने कहा है कि आम आदमी पार्टी दिल्ली से बाहर 18 लोकसभा सीटों पर गठबंधन की बात कर रही है. मगर कांग्रेस पार्टी चाहती है कि पहले दिल्ली में दोनों पार्टियां साथ आएं. चाको ने कहा कि राहुल गांधी गठबंधन करना चाहते हैं और बीजेपी को हराने के लिए दिल्ली में आप-कांग्रेस गठबंधन की जरूरत है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली में जो भी निर्णय होगा जरूरी नहीं है कि दूसरे राज्यों में भी उसी आधार पर गठबंधन का निर्णय लिया जाए.

गौरतलब है कि पिछले लंबे समय से दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर बात चल रही है. इससे पहले भी राहुल गांधी ने मीडिया के सामने कह चुके हैं कि दिल्ली में गठबंधन को लेकर उनकी ओर से दरवाजे हमेशा खुले हैं. दोनों पार्टियों के नेताओं के बीच इस पर बात भी हुई लेकिन इसका कोई हल नहीं निकल पाया है.

राजनीतिक जानकारों की मानें तो दिल्ली में यदि कांग्रेस और आप साथ आ जाती है तो बीजेपी को कड़ी टक्कर मिलेगी. वहीं यदि दोनों पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ती है तो दिल्ली की सातों लोकसभा सीटों पर त्रिकोणिय मुकाबला होगा. कांग्रेस और आप के वोट बंटेंगे और इसका फायदा सीधे बीजेपी को होगा. दिल्ली में लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 12 मई को वोटिंग होनी है. इसके लिए कांग्रेस और आप के पास अभी भी गठबंधन का समय है. हालांकि अब राहुल गांधी और केजरीवाल के बीच ट्विटर वार होने के बाद गठबंधन पर एक बार फिर संशय खड़ा हो गया है.

Rahul Gandhi on AAP Congress Alliance: कांग्रेस दिल्ली में आम आदमी पार्टी को 4 लोकसभा सीटें देने को तैयार, राहुल गांधी बोले- गठबंधन पर अरविंद केजरीवाल ने लिया यू-टर्न

Rahul Gandhi Contempt of Court: राफेल मामले पर कांग्रेस चीफ राहुल गांधी के बयान के खिलाफ बीजेपी सांसद मीनाक्षी लेखी ने ठोका अवमानना का मामला, 15 अप्रैल को सुनवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App