हैदराबाद. लोकसभा चुनाव रिजल्ट 2019 के सभी 542 सीटों पर रुझान सामने आ गए हैं. लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक बार फिर से सत्ता में वापसी कर रहे हैं. वहीं आंध्र प्रदेश विधान सभा चुनाव की बात करें तो यहां जगनमोहन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस ने चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी का सूपड़ा साफ कर दिया है. आंध्र प्रदेश में वाईएसआर कांग्रेस की जीत के लिए पीएम नरेन्द्र मोदी ने जगनमोहन रेड्डी को बधाई दी है. खबर है कि जगन मोहन रेड्डी 30 मई को मुख्यमंत्री पद की शपथ ले सकते हैं. आंध्रप्रदेश के सभी 1 74 विधान सभा सीटों पर रुझान सामने आ चुके हैं. हालांकि अभी तक आंध्र प्रदेश विधानसभा के फाइनल नतीजे घोषित नहीं किए गए हैं. रुझानों ने सत्तारूढ पार्टी तेलुगु देशम सत्ता से पीछे जाती दिख रही है. चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी अभी भी 24 सीटों पर ही टिकी हुई है. वहीं जंगमोहन रेड्डी की पार्टी वाईएसआर 148 सीट पर आगे चल रही है. एक्टर पवन कल्याण की पार्टी जनसेना की झोली में 1 सीट ही आ पाई है.

आंध्र प्रदेश विधानसभा चुनावों में टीडीपी के वोट शेयर में करीब 5.94% की गिरावट देखने को मिली है. इससे पार्टी को 2014 के मुकाबले 79 सीटों को नुकसान हुआ. वहीं वाईएसआर कांग्रेस के वोट शेयर में 5.7% का इजाफा हुआ है. इससे पार्टी को 2014 के मुकाबले 85 सीटों का फायदा हुआ.

आंध्र प्रदेश में सत्ताधारी पार्टी तेलुगु देशम पार्टी रुझानों में काफी पीछे चल रही है.वहीं वाईएसआर कांग्रेस टीडीपी को पछाड़ते हुए काफी आगे निकल चुकी है. ़ चंद्रबाबू नायडू की तुलुगु देशम का राज्य की सत्ता से हाथ धोती दिख रही है. वहीं बीजेपी जहां एक बार फिर से देश में सरकार बनाने के लिए तैयार है वहीं आंध्र प्रदेश के विधान सभा चुनाव में बीजेपी का खाता भी खुलता नजर नहीं आ रहा है.  बीजेपी राज्य के राजनीतिक परिदृश्य से अपनी ही उम्मीदों पर खरा उतरता नहीं दिख रहा है. 2014 में राज्य के विभाजन के बाद कांग्रेस आंध्र प्रदेश में पुनर्गठन की मांग कर रही है. 

वहीं आंध्रप्रदेश में साउथ सुपरस्टार पवन कल्याण की पार्टी जन सेना राज्य में 1 सीट से अपना खाता खोल चुकी है.बता दें कि जनसेना वही पार्टी है जिसने 2014 में टीडीपी के पक्ष में तराजू का पलड़ा झुका दिया था. 2014 में, टीडीपी का भाजपा के साथ गठबंधन था और गठबंधन को तेलुगु फिल्म स्टार पवन कल्याण की जन सेना पार्टी का समर्थन प्राप्त था. राज्य की विधानसभा में 294 विधायक हैं. देश में विधानसभा चुनाव चार राज्यों- ओडिशा, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम में एक साथ अप्रैल और मई में लोकसभा चुनाव के साथ हुए थे.

Andhra Pradesh Lok Sabha Elections Exit Poll Results 2019 BJP Congress TDP YSRCP: आंध्र प्रदेश के लोकसभा चुनाव एग्जिट पोल में टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस में कड़ा मुकाबला, बीजेपी और कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत रही

Lok Sabha Elections 1951-52 to 2019 Hyderabad – Andhra Pradesh Parliamentary Seats Results Winners List: पहले हैदराबाद और बाद में आंध्र प्रदेश में 1951 से 2019 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस, बीजेपी, टीडीपी, वाईएसआर समेत सभी पार्टियों को कितनी सीट और कितना वोट

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App