नई दिल्ली. सावन में साड़ी से आपका सौभाग्य जग सकता है. आज फैमिली गुरु में एस्ट्रोलॉजर जय मदान ने साड़ी विषय पर पूछे गए सवालों के जवाब दिए और बताया कि सावन और साड़ी का क्या महत्व है. भारतीय रीति रिवाज में हर पूजा-अर्चना व किसी भी पारंपरिक कार्यों में इंडियन कपड़े पहने जाते हैं. खास तौर पर पूजा के दौरान साड़ी पहनी जाती है जिसका अपना महत्व है. पूजा के दौरान सिर पर कपड़ा रखना महिला व पुरुष दोनों के लिए महत्व रखता है. ॉ

सावन में साड़ी पहनने का अपना मजा है और अगर ये साड़ी आपकी किस्मत बदल तो इसका महत्व और बदल जाता है. आज फैमिली गुरु में एस्ट्रोलॉजर जय मदान ने बताया कि कैसी साड़ी आपके पास होना बहुत बहुत जरुरी है.आज आपको ये भी पता चलेगा की फीगर के हिसाब से कैसी साड़ी आप पर बेस्ट लगेगी. आज ही आपको पता चलेगा कैसे सालों साल तक आपकी साड़ी का रंग नहीं उतरेगा. वो हमेशा नई बनी रहेगी. साड़ी सिलेक्ट करने से लेकर साड़ी पहनने के दौरान होने वाली भूल से कैसे बचें इन विषयों पर एस्ट्रोलॉजर जय मदान ने विस्तार से बताया. आप चाहे तो वीडियो में पूरा शो देख कर आसानी से पूरा विषय समझ सकते हैं. दरअसल साड़ियां तो हम सबके पास होती हैं लेकिन कुछ साड़ियां खास होती हैं. अगर आप साड़ी पहनती है तो आपके अलमीरा में पांच तरह की साड़ियां जरूर होनी चाहिए.

बांधानी साड़ी- इस तरह की साड़ियों को आप त्यौहार पर पहनिए और छा जाइए.
कांजीवरम साड़ी- ये साड़ी पहनने पर बेहद खूबसूरत लगती है. इतना ही नहीं.ये काफी बेशकीमती और महंगी साड़ियां होती है.
बनारसी साड़ी- हाथ से बनी हुई और कढ़ाई की हुई बनारसी साड़ी हर भारतीय महिला की पसंद है. किसी खास मौक पर आप इसे जरूर ट्राई कर सकती हैं.
पठानी साड़ी- हाथ से बनी ये साड़ियां हर उम्र की महिलाओं पर खूब जंचती हैं.
पटोला साड़ी– ये साड़ियां स्टेटस सिंबल है. आप इस पहनकर कहीं भी चले जाइए. भीड़ में आप बिलकुल अलग दिखेंगी.

फैमिली गुरु: इन पांच महाउपाय के जरिए रोजाना के कलेश, बीमारी और कालसर्प दोष को करें दूर

फैमिली गुरु: इन अचूक उपायों के साथ सावन में भोलेनाथ और शनिदेव को एक साथ करें प्रसन्न

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App