नई दिल्ली. शादी होने के बाद हनीमून और फिर उसके बाद जोड़े को सबसे ज्यादा क्रेज फोटो एलबम का होता है. लेकिन तस्वीर को चुनते समय कपल को तस्वीर की सही दिशा का चयन भी करना चाहिए. वेडिंग-डे की तस्वीर लगाने के लिए बेडरूम की पूर्व दिशा का ही प्रयोग करें. पूर्व दिशा आपकी शादी को पॉजिटिव एनर्जी देगी. गलती से भी इस तस्वीर को दक्षिण दिशा में ना लगाएं, क्योंकि यह दिशा मृत लोगों की तस्वीर टांगने के लिए होती है.
ना केवल नए ब्याहे जोड़े के लिए, बल्कि किसी भी शादीशुदा जोड़े के लिए बेडरूम वह जगह है जहां वे एक-दूसरे को समय देते हैं. वास्तु के अनुसार पति-पत्नी के लिए दक्षिण दिशा में सिर रखकर सोना सही बताया गया है. यह दिशा उनकी लव लाइफ, दोनों में आपसी प्यार को बढ़ाती है. एक दूसरे के प्रति आकर्षण को बनाए रखती है.

वास्तु के अनुसार यह साफ तौर पर कहा गया है कि पति-पत्नी के बेड के सामने शीशा ना हो. या फिर जब भी वे बेड पर लेटें, तो उन्हें अपनी छवि शीशे में दिखाई ना दे. बेड के पास पति-पत्नी के नीले रंग का लैम्प रखें, यह नीला रंग एक-दूसरे के प्रति आकर्षण को बढ़ाएगा.

रोमांस और प्यार को हर पल अपने बेडरूम में बनाए रखने के लिए खुशबूदार फूल और एक सुंदर-सी मोमबत्ती जरूर जलाएं. फूलों की खुशबू बेडरूम में अच्छा माहौल बनाए रखेगी और मोमबत्ती को रोशनी बाहर से आ रही किसी भी निगेटिव ऊर्जा को काट देगी. आप कितनी ही धार्मिक क्यों ना हों, लेकिन बेडरूम में भगवान की तस्वीर ना लगाएं. वास्तु शास्त्र के अनुसार बेडरूम में धार्मिक तस्वीरें होने से पति-पत्नी के बीच झिझक पैदा हो जाती है. रोमांस में ये तस्वीरें पति-पत्नी के माइंड को दूसरी ओर ले जाती हैं. इसलिए जितने समय तक हो सके इन्हें बेडरूम में ना लगाएं.

फैमिली गुरु: पति को कंट्रोल में करने वाला मंत्र

फैमिली गुरु: 5 काली मिर्च और लौंग दिलवाएगा आपको शुभ फल

फैमिली गुरु जय मदान टिप्स: ब्लाउज के 11 हॉट, सेक्सी और लेटेस्ट ट्रेंडिंग डिजाइन

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App