नई दिल्ली. अकसर लोगों को घर के ऐसे संकेतों का अंदाजा नहीं होता है जिससे आपके धन में कमी की आशंका हो सकती है. कई बार लोग धन से जुड़ी समस्याओं से दुखी रहते हैं. उनको लगता है कि लक्षमी उनसे नाराज हैं. ऐसे में इंडिया न्यूज के कार्यक्रम फैमिली गुरु में जय मदान से जानिए ऐसे उपाए जिससे आप धन के देवता कुबेर जी को प्रसन्न कर सकते हैं.

पहला महाउपाय

आज जय मदान आपको धन संपत्ति से जुड़े पांच  उपाय बताएंगी.  धन में वृद्धि और बचत के लिए तिजोरी या आलमारी जिसमें धन रखते हों, उसे दक्षिण दिशा में इस तरह रखें की इसका मुंह उत्तर दिशा की ओर रहे. धन में वृद्धि के लिए तिजोरी का मुंह उत्तर दिशा की ओर रखना सबसे अच्छा माना जाता है.

दूसरा महाउपाय

क्या घर में धन आता है लेकिन रुकता नहीं . घर के नलों में से पानी का टपकना बहुत आम बात मानी जाती है. इसलिए इसे बहुत से लोग अनदेखा कर जाते हैं, लेकिन नल से पानी का टपकते रहना भी आर्थिक नुकसान का बड़ा कारण माना गया है. नल से पानी का टपकते रहना धीरे-धीरे धन के खर्च होने का संकेत होता है. इसलिए नल में खराबी आ जाने पर तुरंत बदल देना चाहिए.

तीसरा महाउपाय

क्या आपको बार बार घाटा हो रहा है. ऐसे में बेडरूम में गेट के सामने वाली दीवार के बाएं कोने पर मेटल की कोई चीज लटकानी चाहिए. ये जगह भाग्य और संपत्ति की जगह होती है.  इस दिशा में दीवार में दरारें नहीं होनी चाहिए. इस दिशा का कटा होना भी आर्थिक नुकसान की वजह बनता है.

चौथा महाउपाय

क्या पैसे की तंगी कभी भी दूर नहीं हुई. घर में टूटे-फूटे बर्तन एवं कबाड़ को जमा करके रखने से घर में नेगेटिव ऊर्जा फैलती है. टूटा हुआ पलंग, अलमारी या लकड़ी का दूसरा सामान भी घर में नहीं रखना चाहिए, इससे आर्थिक लाभ में कमी आती है और खर्च बढ़ता है. छत पर या सीढ़ियों के नीचे कबाड़ जमा करके रखना भी आर्थिक नुकसान होता है.

पांचवा महाउपाय

क्या पैसे आते ही हाथ खाली हो जाते हैं. सब खत्म हो जाता है. जिनके घर में जल की निकासी दक्षिण या पश्चिम दिशा में होती है उन्हें आर्थिक समस्याओं के साथ दूसरी कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है. उत्तर दिशा एवं पूर्व दिशा में जल की निकासी पैसे के लिए शुभ माना गया है.

फैमिली गुरु: हथेली में हैं ये खास रेखाएं तो आपके लिए लकी साबित होगा साल 2018

फैमिली गुरु: ये पांच महाउपाय दूर करेंगे आपकी संतान से जुड़ी सभी समस्याएं

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App