नई दिल्ली. Family Guru Jai Madaan: इंडिया न्यूज के पॉपुलर शो फैमिली गुरु में अमावस्या के सभी अचूक उपाय के बारे में बताया है. अगर आपकी किस्मत में पैसा नहीं आ पा रहा है तो आप अमावस्या की रात एक पानी का नारियल लीजिये और पांच बराबर टुकड़े कर लीजिये इन टुकड़ों को शिव की किसी तस्वीर के सामने शाम के समय रख दीजिये और अपनी समस्या शिव को बतायें. ध्यान रहे इस उपाय से किसी का बुरा करने की बिलकुल ना सोचें और रात के समय इन नारियल को खिड़की पर रख दें. सुबह उठते ही इन नारियल को घर से दूर कहीं रख आयें. आपको पैसे की दिक्कत से छुटकारा मिलेगा.

किसी कुएं में अगर आप हर अमावस्या को एक चम्मच दूध डालते रहते हैं तो इससे आपके जीवन में सभी दुख खत्म होने लगते हैं. महीने की शुरुआत में आप एक लाल धागा अपने गले में पहन लें. ध्यान रहे कि इसमें कोई भी ताबीज ना हो. इस धागे को महीनेभर गले में रखें और अमावस्या की रात के समय कहीं सुनसान जगह पर एक गड्ढा खोदकर दबा दें. आपकी सारी परेशानी दूर होने लगेंगी. ऐसा हर महीने की अमावस्या को करें अमावस्या की रात को अगर आप काले कुत्ते को तेल की रोटी खिलाते हैं और वह कुत्ता उसी समय यह रोटी खा लेता है तो इससे आपके सभी दुश्मन उसी समय से शांत होना शुरू हो जाते हैं. आपके खिलाफ हो रही कोई भी साजिश कमजोर होगी.

आप अगर काफी दिनों से बेरोजगार हैं तो अमावस्या की रात को एक उपाय कीजिये कि एक नींबू को सुबह से घर के मंदिर में साफ करके रख दें इसके बाद इसे अपने सर से सात बार उतारकर, चार बराबर भागों में काट लें और रात के समय चौराहे पर जाकर, चारों दिशाओं में इसको फ़ेंक दें. आपकी बेरोजगारी दूर होगी. अमावस्या के दिन आप मछलियों को आटे की गोलियां जरूर खिलायें. इससे आपके कष्ट खत्म होने लगेंगे. अमावस्या की रात को बहते नदी के पानी में पांच लाल फूल और पांच जलते हुए दिए छोड़ने से धन का लाभ प्राप्त होता है. अगर आप अमावस्या की रात को मंदिर बंद करने से पहले एक घी का दीया जलायें और पांच अगरबती जलाएं. आपको लाभ मिलेगा.

Family Guru Jai Madaan: कौन सा तेल अर्पित करने से घर में शांति बनी रहेगी

Family Guru Jai Madaan: कौन सा तेल अर्पित करने से घर में शांति बनी रहेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App