नई दिल्ली. family guru Chhath Puja 2018: इंडिया न्यूज के शो फैमिली गुरु में जय मदान ने 4 दिन के महापर्व छठ के बारे में बताया है. जिन लोगों को छठ पूजा की अधिक जानकारी नहीं हैं. उनको भी पूजा की विधि और कहानी के बारे में पूरी जानकारी दी है. शो में बताया है कि पहले दिन छठ पूजा के दिन नहाय-खाय के रूप में मनाया जाता है. इस दिन व्रती खुद को शुद्ध करने के लिए कई तरह के उपाय करते हैं. स्नान के बाद घर की साफ-सफाई की जाती है. उसके बाद अरवा चावल, चने की दाल व कद्दू की सब्जी बना कर व्रती खाया जाता है.

‘नहाय-खाय’ के दिन में खाने के बाद रात में आम दिनों की तरह खाना खाते हैं. छठ का त्यौहार सूर्योपासना का पर्व होता है. छठ का त्यौहार सूर्य की आराधना का पर्व है. सुबह में सूर्य की पहली किरण और सायंकाल में सूर्य की अंतिम किरण को अर्घ देकर दोनों का नमन किया जाता है. सूर्य षष्ठी व्रत होने के कारण इसे छठ कहा गया है. सुख-समृद्धि तथा मनोकामनाओं की पूर्ति का यह त्योहार सभी समान रूप से मनाते हैं मान्यता है की संतान प्राप्ति के लिए पति-पत्नी दोनों को किसी ज्योतिर्लिंग की यात्रा करनी चाहिए जो आपके घर के सबसे करीब हो. और वहां सर्प-पूजन करवाना चाहिए। इस कार्य को करने से संतान-दोष समाप्त होता है. लेकिन इस यात्रा से पहले आप किसी योग्य पुरोहित से सलाह जरुर ले लें

स्त्री में कमी के कारण संतान होने में बाधा आ रही हो, तो लाल गाय व बछड़े की सेवा करनी चाहिए. लाल या भूरा कुत्ता पालना भी शुभ रहता है.अगर विवाह के दस या बारह साल बाद भी संतान न हो, तो मदार की जड़ को शुक्रवार को उखाड़ लें। उसे कमर में बांधने से संतान को योग बनते हैं. जब गर्भ धारण हो गया हो, तो चांदी की एक बांसुरी किसी भी साइज की बनाकर राधा-कृष्ण के मंदिर में पति-पत्नी दोनों गुरुवार के दिन चढ़ायें तो कुछ गडबड होने का खतरा कम हो जाता है

Family Guru Jai Madaan Tips: शादी की बिगड़ी बात बनाने वाले ये 5 महाउपाय

family guru evil eye protection: बुरी नजर और बीमारियों से छुटकारा दिलवाने वाले अचूक उपाय

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App