नई दिल्ली: वास्तुशास्त्र में घर के मुख्यद्वार का अत्यधिक महत्व माना गया है क्योंकि यही एकमात्र स्थान है, जहां से नकारात्मक और सकारात्मक ऊर्जा प्रवेश करती है. तभी तो इस स्थान को साफ-सुथरा रखने पर बल दिया जाता है.तोरण बांधे, इससे घर में नकारात्मक शक्तियां प्रवेश नहीं कर पाती. आम, पीपल, अशोक और बिल्व पत्र का तोरण शुभ प्रभाव देता है. जिस घर के बाहर यह बंधा होता है, वहां किसी भी तरह की ऊपरी बाधा घर में प्रवेश नहीं कर पाती. जब पत्ते सूख जाएं तो तोरण बदल दें. सूखा तोरण अशुभता बढ़ाता है. आज फैमिली गुरु जय मदान बताएंगी किस उपाय से अपने घर को सुरक्षित रख सकते हैं.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर