नई दिल्ली. आज मां दुर्गा के चौथे दिन देवी कुष्माण्डा की पूजा होती है. जब भी मां कुष्माण्डा की पूजा करें उनके माहामंत्र का उच्चारण जरूर करें. नवरात्र के दौरान जब भी पूजा करें मां के महामंत्र और बीजमंत्र कम कम से कम एक माला जप करना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
मां कुष्मांडा की पूजा से दूर होगी ये तकलीफ
माँ कुष्मांडा की श्रद्धा से पूजा करने से physical और mental disorders दूर होते है . तो चलिए अब आपको माता की पूजा कैसे करनी है. दुर्गा पूजा के चौथे दिन देवी कूष्माण्डा की पूजा का विधि भी वैसी ही है जैसी शक्ति के अन्य रुपों को पूजा  की जाती है.
 
मां कूष्माण्डा को रात की रानी के फूल बेहद पसंद है इसलिए नवरात्र के चौथे दिन आप पूजा में ये फूल जरुर रखिए. सबसे पहले कलश और उसमें उपस्थित देवी देवता की पूजा करें