नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद रिया चक्रवर्ती के कूपर अस्पताल के मोर्चरी में जाने की खबर मिलने के बाद मचे हड़कंप के बीच महाराष्ट्र मानवाधिकार आयोग ने कूपर अस्पताल और मुंबई पुलिस को नोटिस भेजा है. एमएसएचारसी के प्रमुख एमए सईद ने अस्पताल और पुलिस से जवाब मांगा है कि किन नियमों के आधार पर रिया को शवगृह में जाने की अनुमति दी गई? दूसरी तरफ सीबीआई टीम ने भी कूपर अस्पताल का दौरा किया जहां राजपूत का पोस्टमॉर्टम किया गया था. इसके अलावा सीबीआई टीम ने एम्स के फॉरेंसिक टीम से सुशांत की पोस्टमार्टम और विसरा रिपोर्ट की पड़ताल करने और अपनी राय देने को कहा है.

रिया चक्रवर्ती को मोर्चरी में जाने देने को लेकर सुशांत के पिता के वकील विकास सिंह ने भी सवाल उठाए थे. उन्होंने सबूतों से छेड़छाड़ की आशंका जाहिर करते हुए पूछा था कि सुशांत की मौत के समय रिया के साथ उनका कोई संबंध नहीं था तो आखिर किस आधार पर रिया चक्रवर्ती को मोर्चरी में जाने की अनुमति दी गई? दरअसल पिछले दिनों एक निजी चैनल पर करणी सेना के एक सदस्य ने खुद को चश्मदीद बताते हुए कहा था कि मोर्चरी में रिया ने सुशांत के सीने पर हाथरकर माफी मांगी थी.

सुशांत के शव का पोस्टमार्टम भी जल्दबाजी में करने को लेकर सीबीआई ने कपूर अस्पताल के डॉक्टरों से पूछताछ की थी. सीबीआई ने डॉक्टरों से पूछा था कि कोरोना रिपोर्ट आने से पहले पोस्टमार्टम क्यों कर दिया गया जिसके जवाब में डॉक्टरों ने कहा कि मुंबई पुलिस के कहने पर उन्होंने पोस्टमार्टम किया था. सीबीआई ने जांच के छठे दिन आज फिर से सुशांत के दोस्त सिद्धार्थ पिठानी से पूछताछ की.

Sushant Singh Rajput Death Mystry: सुशांत सिंह राजपूत केस में नया खुलासा, एम्स के फॉरेंसिक डॉक्टरों ने पोस्टमार्टम रिपोर्ट को बताया अधूरा, कहा- हत्या के एंगल से जांच हो

Sushant Singh Rajput Case: ड्रग डीलरों से रिया चक्रवर्ती की बातचीत वायरल होने के बाद नार्कोटिक्स डिपार्टमेंट ने शुरू की छानबीन

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर