बॉलीवुड डेस्क,मुंबई. भले ही ऋषि कपूर के जिंदगी का सफर खत्म हो गया हो.लेकिन उन्होंने अपनी बेहतरीन एक्टिंग के साथ जो फिल्में विरासत में छोड़ी है वो हमेशा उन्हें जिंदा रखेगी. ऋषि पिछले दो सालों से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी से लड़ रहे थे. हाल ही में वे इसका इलाज करा कर भारत लौटे थे. लेकिन आज उनका निधन हो गया. अपने फिल्मी करियर के दौरान ऋषि कपूर ने चाइल्ड आर्टिस्ट से लेकर अभिनेता, फ़िल्म निर्माता और निर्देशक की भी भूमिका निभाई. उन्होंने अपने अभिनय से लोगों को हंसाया, गुदगुदाया और रुलाया भी.

ऋषि कपूर का पारिवारित परिदृश्य
ऋषि कपूर का जन्म 4 सितंबर, 1952 को मुंबई के चेम्बूर में हुआ था. वह फिल्मी परिवार से ताल्लुक रखते थे. लेकिन इसके बावजूद अपनी मेहनत से उन्होंने एक अलग मुकाम हासिल की. उनके दादा पृथ्वीराज कपूर और पिता राज कपूर थे. उनके भाई रणधीर कपूर और राजीव कपूर हैं. ऋषि की दो बहनें रितु नंदा और रिमा जैन हैं. चाचा शशि कपूर और शम्मी कपूर हैं. सभी ने फिल्मों में अभिनय किया. ऋषि भी अपने दादा और पिता की तरह फिल्मों में आए और एक सफल अभिनेता के रूप में उभरे. उनकी पत्नी नीतू सिंह और बेटा रणवीर कपूर भी फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं. वहीं बेटी रिद्धिमा कपूर फैशन डिजाइनर हैं.

कैसे हुई करियर की शुरुआत
ऋषि कपूर ने अपने करियर की शुरुआत बतौर चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर ही शुरू कर दी थी. 1970 में अपने पिता की फिल्म मेरा नाम जोकर में उन्हें 14 साल के लड़के रूप में देखा गया. अपनी पहली ही फिल्म से ऋषि ने दर्शकों को भावभिभोर कर दिया. 1971 में पहली फिल्म में शानदार भूमिका के लिए उन्हें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला. इसके बाद बतौर लीड एक्टर 1973 में अपने पिता राज कपूर के बैनर तले बनी फिल्म बॉबी में ऋषि कपूर नजर आए. इस फिल्म में उनके अपोजिट डिंपल कपाड़िया थीं. बॉबी सुपरहिट रही और इसके लिए उन्हें 1974 में सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के लिए फ़िल्मफ़ेयर पुरस्कार भी मिला.

वो फिल्म जिसने बना दी जोड़ी
साल 1975 में फिल्म खेल खेल में रिलीज होने के बाद ना सिर्फ ऋषि कपूर को फिल्मी जगत में पहचान मिली बल्कि इस फिल्म के बाद उनकी जिंदगी ही बदल गई. खेल खेल में कॉलेज लाइफ बेस्ड फिल्म थी. इसमें उनके साथ नीतू सिंह थी. फिल्म कामयाब रही और साथ ही ऋषि और नीतू की जोड़ी भी. दोनों की जोड़ी को पर्दे पर दर्शकों ने खूब पसंद किया. इसके बाद इस जोड़ी ने रफूचक्कर, जहरीला इंसान, जिंदादिल, कभी-कभी, अमर अकबर एंथनी, अनजाने, दुनिया मेरी जेब में, झूठा कहीं का, धन दौलत, दूसरा आदमी जैसी कई फिल्में की. फिल्में करने के साथ ही नीतू सिंह और ऋषि कपूर करीब भी आ गए और 22 जनवरी 1980 को दोनों शादी के बंधन में बंध गए.

ऋषि कपूर की फिल्में
अपने फिल्मी करियर के दौरान ऋषि कपूर ने बॉबी, चांदनी, दीवाना, नगीना, प्रेम रोग, अमर अकबर एंथॉनी, हिना, कर्ज, लैला मजनू, प्रेम ग्रंथ, बंजारा, नसीब, बोल राधा बोल, सरगम, दामिनी, नसीब अपना अपना, सागर, साजन का घर, मोहब्बत की आरजू, पहला पहला प्यार, याराना, साजन की बाहों में, ये वादा रहा,तवायफ, इना मिना डीका, अनमोल, दूसरा आदमी जैसी कई फिल्में की.लव आज कल, डी-डे, कपूर एंड सन्स, मुल्क, बेशरम 102 नॉट आउट जैसी फिल्मों में नजर आए. आखिरी बार उनकी फिल्म द बॉडी पर्दे पर रिलीज हुई थी. वह दीपिका के साथ हॉलीवुड फिल्म द इंटर्न की रीमेक करना चाहते थे. इसकी घोषणा भी वे कर चुके थे. हालांकि उनकी ये इच्छा अधूरी ही रह गई.

ऋषि कपूर को इन फिल्मों के लिए मिले अवार्ड
1970- बंगाल फ़िल्म जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन अवार्ड्स : स्पेशल अवार्ड और नेशनल फ़िल्म अवार्ड, मेरा नाम जोकर के लिए
1974 – फ़िल्मफ़ेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता पुरस्कार – बॉबी
2008- फ़िल्मफ़ेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड
इसके अलावा उन्हें अग्निपथ 2012 और कपूर एण्ड सन्स 2013 के लिए दो आइफा अवार्ड मिले हैं. जी सिने, स्टारजस्ट, अप्सरा फिल्म अवार्ड समेत 11 अवार्ड से सम्मानित किया गया है.

Also Read:

Rishi Kapoor Death Social Media Reaction: कैंसर के कारण अभिनेता ऋषि कपूर का 67 की उम्र में निधन, सोशल मीडिया पर छाया दुख का साया

Rishi Kapoor Dies: बॉलीवुड सुपरस्टार ऋषि कपूर का 67 साल की उम्र में निधन, शोक में फिल्म जगत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर