बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. आज भारतीय सिनेमा के सबसे महान सिंगर और कंपोजर आर डी बर्मन की 26वीं पुण्यतिथि है. आर डी बर्मन का पूरा नाम राहुल देव बर्मन हैं, जिनका जन्म 27 जून 1939 को हुआ था. वे कंपोजर सचिन देव बर्मन के बेटे थे. आर डी बर्मन के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने अपने संगीत और कला से सिर्फ देश ही नहीं पूरी दुनिया में भारतीय फिल्म संगीत को एक अलग पहचान दिलाई है. आर डी बर्मन हर तरह की संगित में निपूर्ण थे इसलिए उनका पंचम दा के नाम से भी जाना जाता था और अभी तक जाना जाता है.

पंचम दा ने लगातार तीन दशकों तक हिंदी सिनेमा पर राज किया और तकरीबन 331 फिल्मों को अपने संगीत से सजाया है. आज भी दर्शक उनके सिंगत को दिल लगा कर सुनते हैं और आनंद लेते हैं. पंचम दा ने उस दौर में लगभग सभी अभिनेताओं के साथ काम किया और उनके लिए संगित को कंपोज करने के साथ-साथ अपनी आवाज भी दी. पंचम दा की एक बेहद खास बात यह थी कि वे अक्सर ट्रैवल करने के दौरान कई गाने कंपोज करते थे.

आज हम उनके बारे में वो दस खास बातें बताने जा रहे हैं, जो बेहद ही कम लोग जानते हैं.

  1. पंचम दा ने साल 1950 के दशक में संगीत की दुनिया में कदम रखा और साल 1956 में उन्होंने 9 साल की उम्र में अपना पहला गाना तैयार किया, जिसको फिल्म फंटूश में रिलीज किया गया था. बाद में उन्होंने साल 1957 में गुरु दत्त की फिल्म प्यासा में अपने पिता सचिन देव बर्मन द्वारा शामिल किए गए लोकप्रिय गाना सर जो तेरा चकराए की धुन भी बनाई थी.
  2. बर्मन को बॉलीवुड में माउथ ऑर्गन के इस्तेमाल के लिए जाना जाता है. वास्तव में बहुत से लोग इस बारे में नहीं जानते हैं कि उन्होंने देव आनंद और वहीदा रहमान की फिल्म सोलवां साल के एक गाने अपना दिल तो आवारा में माउथ ऑर्गन बजाया कर अपनी अहम भूमिका निभाई थी.
  3. इतना ही नहीं आरडी बर्मन ने बॉलीवुड में इलेक्ट्रिक ऑर्गन के इस्तेमाल की भी पहल की थी. उन्होंने लोकप्रिय गाने ओ मेरे सोना रे में इसका इस्तेमाल किया था, जो कि फिल्म तीसरी मंजिल में फिल्माया गया था.
  4. पंचम दा ने साल 1987 में एक अंतर्राष्ट्रीय जैज एल्बम पैंतरा भी रिकॉर्ड किया था, जो उसी साल रिलीज भी किया गया था. वो एल्बम उस दौरान न्यूयॉर्क में हिट गानों में रेडियो चार्टबस्टर था, लेकिन बर्मन को निराशा का सामना तब तकना पड़ा था जब भारत में ये गाना विफल साबित हुआ.
  5. ऐसा माना जाता है कि पंचम दा के लिए संगीत ही उनका खाना था, पानी था, सांसे थी और संगीत में ही वो सोते थे. यह भी कहा जाता है कि वह बारिश की बूंदों की आवाज रिकॉर्ड करने के लिए अपनी बालकनी में घंटों बिताते थे. इतना ही नहीं उन्होंने देव आनंद और जीनत अमान की फिल्म हरे रामा हरे कृष्णा से कांचा रे कांचा गीत की रचना की थी, जो काफी पसंद किया गया था.
  6. तीन दशकों के अपने करियर में पंचम दा ने लगभग 331 फिल्मों के लिए संगीत तैयार किया था. उन्होंने प्रमुख रूप से किशोर कुमार, लता मंगेशकर और उनकी पत्नी आशा भोसले के साथ काम किया है, जिनके सभी गाने हिट रहें.
  7. आरडी बर्मन ने पहली शादी रीटा पटेल से की थी, जिनसे उनकी मुलाकात दार्जिलिंग में हुई थी. बताया जाता है कि रीटा बर्मन की फैन थीं और उन्होंने अपनी दोस्तों से शर्त लगाई थी कि वो उनके साथ फिल्म डेट पर जाएंगी. इसके बाद साल 1966 में दोनों ने शादी कर ली, हालांकि यह रिश्ता लंबे समय तक नहीं टिक पाया और करीब 5 साल बाद 1971 में दोनों का तलाक हो गया.
  8. पंचम दा ने साल 1980 में तीन बच्चों की मां और सिंगर आशा भोसले से शादी की थी. आशा भोसले उम्र में पंचम दा से करीब 6 साल बड़ी थीं. इस समय तक बर्मन की शादी तो टूट ही चुकी थी वहीं तीन बच्चों की मां आशा की शादीशुदा जिंदगी भी लगभग खत्म हो गई थी.
  9. इतना ही नहीं आरडी बर्मन के नाम पर एक किताब R D Burman – The Prince of Music भी लिखी गई है. इस किताब के लेखक खगेश देव बर्मन जी हैं. इस किताब में उन्होंने पंचम दा के बारे में कई खास बातों का भी खुलासा किया है.
  10. किताब में बताया गया है कि शादी टूट जाने के गम से पंचम दा काफी गम में रहने लगे थे और इसी दौरान उन्होंने एक होटल के कमरे में बैठकर फिल्म परिचय के सुपर हिट गाना मुसाफिर हूं यारों को कंपोज किया, जो रिलीज होने के बाद से लेकर अब तक बेहद लोकप्रिय है. 

Suhana Khan Beautiful Look Photo: सुहाना खान की बेहद खूबसूरत अंदाज में बोल्ड फोटोज हो रही वायरल

विजय देवरकोंडा की फिल्म वर्ल्ड फेमस लवर का टीजर रिलीज, राशि खन्ना और कैथरीन ट्रेसा का दिखा जलवा

Disha Patani Malang First Look: दिशा पटानी ने फिल्म मलंग से शेयर किया फर्स्ट लुक, देखें एक्ट्रेस का बोल्ड अंदाज

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर