बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. यूनिसेफ के वैश्विक राजदूत के रूप में प्रियंका चोपड़ा पहली बार इथियोपिया के एक कार्यक्रम में शामिल हुईं. इस कार्यक्रम का उद्देश्य लड़कियों और लड़कों को सशक्त बनाना है. प्रियंका ने अपने पहले दिन का एक फोटो इंस्टाग्राम पर शेयर किया है. प्रियंका ने वहां जेंडर क्लब के सदस्यों के साथ बातचीत की. यह क्लब छात्रों को हानिकारक सामाजिक प्रथाओं से निपटने में मदद करते हैं.

फोटो शेयर करते हुए प्रियंका ने लिखा कि डगमाविट और उनके दोस्त जेंडर क्लब के प्रमुख सदस्य हैं. यह एक यूनिसेफ समर्थित कार्यक्रम है जो लड़कियों और लड़कों को सशक्त बनाता है. जेंडर क्लब छात्रों को हानिकारक सामाजिक प्रथाओं का मुकाबला करने में मदद करने के लिए प्रासंगिक ज्ञान और कौशल प्रदान करते हैं जैसे लिंग आधारित हिंसा, बाल विवाह और यौन हिंसा. इन बहादुर लड़कियों को देखना और इस तरह के कठिन मुद्दों से निपटना और एक ऐसा वातावरण बनाना जहां वे अपने साथियों को सिखा सकें यह आश्चर्यजनक है. मैं इनसे प्रेरित हूं.

प्रियंका ने एक प्राथमिक स्कूल का भी दौरा किया जिसमें उन्होंने छात्रों के साथ बातचीत की. प्रियंका ने छात्रों से बातचीत करते हुए एक वीडियो भी शेयर किया है. वीडियो शेयर करते हुए प्रियंका ने लिखा कि सिबिस्ते नेगासी प्राइमरी स्कूल में यह मेरा पहला दौरा था. इथियोपिया में 2007 और 2017 के बीच प्राथमिक स्कूल में एडमिशन की बढ़ोत्तरी हुई है.  2017 में एडमिशन की संख्या तीनगुनी हो चुकी है. इसका कारण शिक्षा में इथियोपियाई सरकार का निवेश और देश के भविष्य के प्रति उसका समर्पण है. 

लेकिन अभी भी बहुत काम करना बाकी है. 2.6 मिलियन प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय के बच्चों स्कूल से बाहर हैं और 50% बच्चे 8वीं के बाद गरीबी के कारण स्कूल छोड़ देते हैं. गरीबी के कारण बच्चे पढ़ने के अलावा अधिक कामों की जिम्मेदारी भी उठाना पड़ती है. भाई-बहनों की देखभाल करना, पानी इकट्ठा करने के लिए मीलों पैदल चलना और अन्य घर के कामों की जिम्मेदारी बच्चे को उठानी पड़ती है जो किसी भी उम्र में बच्चे की जिम्मेदारी नहीं होनी चाहिए. एक बच्चा एक बच्चा है.

View this post on Instagram

Day 1: My first visit was to the Sibiste Negasi Primary School in Addis Ababa. In Ethiopia, primary school enrollment between 2000 and 2017 has TRIPLED. This is because of the Ethiopian government’s investment in education and its dedication to the future of the country…but there is still so much work to do. 2.6 M children of primary and secondary school age are out of school, and 50% of children attending school drop out by grade 8. Because of poverty children are responsible for much more than just learning, like caring for siblings, walking miles to collect water and other house hold chores…things that should not be a child’s responsibility at any age. A child is a child. @unicef’s efforts, along with a very committed government, are focused on getting every child in school, ensuring every child has a quality education, and that every child completes school. Thank you Principal Abebech, Dagmawit (7th grade), and all the other students who made my first day in ethopia so special. Go to my stories to follow this trip. @unicefethiopia #achildisachild #foreverychild

A post shared by Priyanka Chopra Jonas (@priyankachopra) on

इसके अलावा प्रियंका ने लिखा कि सरकार के साथ-साथ यूनिसेफ स्कूल में प्रत्येक बच्चे को प्रवेश कराने के प्रयास करता है. यह सुनिश्चित करते हैं कि प्रत्येक बच्चे की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा हो और हर बच्चा स्कूल की पढ़ाई पूरी कर सके. प्रियंका ने प्रधानाचार्य एबेबेच, डगमाविट (7 वीं कक्षा) और अन्य सभी छात्रों को धन्यवाद करते हुए लिखा कि इथोपिया में मेरा पहला दिन इतना खास बनाने के लिए आप सभी का धन्यवाद.

Priyanka Chopra Sexy Bikini Video: OMG ! प्रियंका चोपड़ा की बिकिनी वीडियो में दिखा ऐसा हॉट रूप जिसे देख फैंस हुए पानी पानी

Miley Cyrus Sexy Photo: अमेरिकन सिंगर माइली साइरस की हॉट अदाओं ने लूटा फैन्स का दिल, सेक्सी फोटो-वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App