बॉलीवुड डेस्क मुंबई. पिछले कई दिनों से बॉलीवुड इंडस्ट्री में यौन शोषण को लेकर आरोप प्रत्यारोप जारी है और #MeToo कैंपेन के तहत इससे जुड़े मामले लगातार एक के बाद एक सामने आ रहे हैं. एक्ट्रेस तनुश्री दत्ता द्वारा नाना पाटेकर पर बदसलूकी के आरोप से मामला शुरु हुआ जो खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा. ऐसे में परिणीति चोपड़ा ने कहा कि पिछले 5 दिनों में ऐसे इतने मामले आए कि वे पीड़ितों और आरोपियों की गिनती भूल गई हैं. उन्होंने कहा कि ये मीटू कैंपेन भानूमति का पिटारा साबित हुआ है जिसका कोई अंत ही नहीं हो रहा. उन्होंने कहा कि ये डरावना और दुखद है.

उन्होंने यह भी कहा कि वह इस बात पर विश्वास नहीं कर पा रहीं कि ऐसी कितनी महिलाएं हैं जो वास्तविकता जानने के बाद भी चेहरे पर एक मुस्कुराहट के साथ अपना काम कर रही हैं. जो महिलाएं 2 घंटे भी बिना बोले नहीं रह सकतीं वे कब से चुप थीं.

उन्होंने कहा कि किसी के साथ शारीरिक संबंध होना सबसे निजी बात है और उसके साथ बलात्कार या हमला किया जाना वह ऐसी चीज है जिसे महिला सोच भी नहीं सकती. उन्होंने आगे कहा कि वह चाहती हैं कि हर एक महिला खुलकर सामने आए और उन बास्टर्ड्स के नाम सामने लाए क्योंकि वे खुद के साथ ये सब होने के बाद कैरियर, या जीवन, या यहां तक कि शांति के साथ कैसे जी सकती हैं. ऐसे घटिया लोगों को पैसा पत्नी और बेटियां होने का कोई अधिकार नहीं है.

#MeToo के समर्थन में उतरे आमिर खान ने छोड़ी ओरोपी डायरेक्टर की ये बड़ी फिल्म, पीड़िता ने कहा- थैंक्यू

#MeToo मुहीम पर सरकार की मंशा पर योगेंद्र यादव ने उठाए सवाल, यौन उत्पीड़न के आरोपी प्रोफेसर को वाइस चांसलर बनाने का आरोप

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App