मुंबई. विक्की कौशल इन दिनों अपनी फिल्म सरदार उधम को लेकर चर्चा में बने हुए हैं. फैंस से लेकर क्रिटिक तक इस फिल्म में विक्की के अभिनय को काबिले तारीफ़ बताते हुए इसकी तारीफ कर चुके हैं. बॉलीवुड भी इस फिल्म की तारीफ़ से अछूता नहीं रहा है. कई कलाकारों ने इस फिल्म की तारीफ की है, जिसमें अभिनेता की ख़ास दोस्त कटरीना कैफ की शामिल हैं. इस फिल्म में विक्की के शानदार अभिनय और जानदार कहानी को देखते हुए इसे ऑस्कर ( Oscars 2022 ) के लिए भेजा जाना था, लेकिन अब यह फिल्म ऑस्कर की रेस से बाहर हो गई है. इस फिल्म की जगह अब मलयाली फिल्म कुंझगल को ऑस्कर के लिए भेजा जा रहा है.

15 सदस्यों की जूरी ने सरदार उधम की जगह कुंझगल को चुना

विक्की कौशल की फिल्म सरदार फिल्म अब ऑस्कर की रेस से बाहर हो गई है. शेरनी, नयत, मंडेला समेत कई फिल्मों के साथ यह फिल्म भी ऑस्कर की रेस में थी. लेकिन, अब इसे ऑस्कर की रेस से बाहर कर दिया गया है. यह फिल्म जालिआवला बाग़ हत्याकांड को अंजाम देने वाले जनरल दायर को मारने वाले गुमनाम नायक के जीवन पर आधारित है.

सरदार उधम के ऑस्कर की रेस से बाहर होने पर क्या बोले जूरी मेम्बर

सरदार उधम के ऑस्कर की रेस से बाहर होने पर फैंस नाखुश हैं. फैंस का कहना है कि यह फिल्म इतनी अच्छी है फिर भी यह कैसे ऑस्कर की रेस से बाहर हो सकती है. इस मामले पर जूरी मेम्बर इन्द्रदीप दासगुप्ता ने कहा कि, “सरदार उधम शानदार सिनेमैटोग्राफी के साथ एक अच्छी फिल्म हैं जो अंतर्राष्ट्रीय मानकों पर पूरी तरह खरी उतरती हैं. लेकिन ये फिल्म थोड़ी लंबी है और जलियांवाला बाग हत्याकांड पर आधारित हैं. ये फिल्म अंग्रेजों के प्रति भारतीयों की नफरत को दर्शाती हैं. आज के वैश्वीकरण के युग में ऐसी भावना रखना सही नहीं है.”

जूरी का यह भी कहना है कि कुंझगल पूरी तरह भारतीय फिल्म है और यह अंतर्राष्ट्रीय मानकों पर उचित खड़ी होती है इसलिए इसे ऑस्कर के लिए भेजा गया है.

यह भी पढ़ें :

Delhi rains and weather : दिल्ली में टूट सकता है कई सालों का बारिश एक रिकॉर्ड, मौसम विभाग ने दी जानकारी

Ahoi Mala Na Mile Toh Kya Karen अगर न मिले अहोई माला तो क्या करें