नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद लगातार सोशल मीडिया पर विरोध झेल रहे बॉलीवुड निर्देशक महेश भट्ट एक और केस में फंस गए हैं. दरअसल नेशनल कमिशन फॉर वुमन ने महेश भट्ट के खिलाफ एक नोटिस जारी किया था जिसमें कहा गया था कि महेश भट्ट एक ऐसी संस्था का प्रमोशन कर रहे हैं जिस पर पहले से ही सेक्शुअल हरासमेंट का केस चल रहा है. इस मामले पर महेश भट्ट ने सफाई दी है.

उन्होंने अपनी सफाई में कहा कि मैं नेशनल कमिशन फॉर वुमन को सैल्यूट करता हूं कि उन्होंने ऐसी कुछ संस्थाओं को चिन्हित कर उन पर कड़ाई की है जो इंडस्ट्री में महिलाओं संग यौन उत्पीड़न को बढ़ावा देती हैं और इंडस्ट्री का नाम खराब करती हैं. इसके लिए मैं नेशनल कमिशन फॉर वुमन का आभारी हूं. मैं आज अपने ऊपर लगे एलिगेशन के संदर्भ में कमिशन के समक्ष हाजिर हुआ. IMG वेंचर ने नवंबर 2020 में अपने प्रमोशनल इवेंट मिस्टर और मिसेज ग्लैमर, 2020 में मेरा नाम का इस्तेमाल किया और मुझे अमंत्रण दिया कि मैं इवेंट का हिस्सा बनूं. इसी के संदर्भ में मुझे कमिशन के सामने हाजिर होना पड़ा.

महेश भट्ट ने आगे कहा कि – मैंने ये स्टेटमेंट इसलिए जारी किया है कि सभी को इस बारे में पता चल जाए कि IMG Ventures से मेरा कोई भी वास्ता नहीं है. बस मेरे नाम और इमेज का इस्तेमाल इसलिए किया गया ताकि उनके इवेंट में ज्यादा से ज्यादा लोग शरीक हो सकें. मैं 71 साल का हो चुका हूं. इस उम्र में ज्ञान बांटने और सामाजिक दृष्टिकोण से लोगों को जागरुक करने की कोशिश करता हूं. मैं तीन लड़कियों का पिता हूं. मैं नेशनल कमिशन ऑफ वुमन का आभारी हूं जिस तरह वे सोशल इश्यू के लिए सराहनीय काम कर रहे हैं.

Sushant Singh Rajput Case: अंकिता लोखंडे ने दिखाए प्रॉपर्टी के पेपर और बैंक स्टेटमेंट, सुशांत के फ्लैट में रहने की आई थी खबर

Sushant Singh Rajput Case: सुशांत के कैश पर ऐश करती थी रिया चक्रवर्ती, फ्लाइट टिकट से शॉपिंग तक के लिए होता था सुशांत के अकाउंट का इस्तेमाल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर