नई दिल्ली,  हिंदी फिल्म इंडस्ट्री और साउथ फिल्म इंडस्ट्री एक बार फिर आमने सामने आ गई हैं. जहां पिछले दिनों भाषा को लेकर दोनों जगत में खूब हंगामा हुआ था अब साउथ सुपर स्टार महेश बाबू इन दिनों अपने एक विवादित बयान को लेकर चर्चा में आ गए हैं.

ये क्या बोल गए महेश

दरअसल साउथ के चहिते सुपर स्टार महेश बाबू पिछले दिनों एक ट्रेलर रिलीज़ इवेंट में गए थे. इस दौरान उन्होंने हिंदी सिनेमा के लिए बड़ा बयान दिया है. उनसे जब बॉलीवुड में काम करने को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि हिंदी सिनेमा उन्हें अफोर्ड नहीं कर सकता है. वह हिंदी फिल्मों में काम कर अपना समय नहीं बर्बाद करना चाहते हैं. अब महेश बाबू अपने इस बयान को लेकर काफी चर्चा में हैं.

साउथ इंडस्ट्री में मान-सम्मान मिला

महेश बाबू ने आगे मीडिया से बातचीत के दौरान बॉलीवुड पर आगे कहा कि ऐसा नहीं है कि मुझे कभी कोई ऑफर नहीं आया, लेकिन मुझे हमेशा से ही तेलुगु फिल्म इंडस्ट्री में ही काम करना था. मुझे ऐसा लगता है कि वो लोग मुझे अफोर्ड नहीं कर सकते हैं. हिंदी फिल्मों में काम करके सिर्फ मेरा समय ही बर्बाद होगा. उन्होंने आगे कहा, सौरठ इंडस्ट्री में उन्हें काफी सम्मान मिला. यह उनके लिए काफी बड़ी बात है. इसलिए वह इस इंडस्ट्री. के अलावा किसी और इंडस्ट्री में काम नहीं करना चाहते हैं.

तेलुगु फिल्में ही करना चाहते थे अभिनेता

महेश बाबू ने आगे बातचीत के दौरान बताया कि वह हमेशा से पैन इंडिया स्टार के रूप में खुदको पेश नहीं करना चाहते थे. बल्कि वह होक्सेहा से साउथ की फिल्म करके ही पूरे इंडिया में नाम कामना चाहते थे. उनके शब्दों में, मैं हमेशा से ही तेलुगु फिल्में करना चाहता था. और मैं ये भी चाहता था कि मुझे पूरे भारत के लोग देखें. मेरी ताकत तेलुगु भाषी फिल्में ही हैं. इन्हीं फिल्मों ने भारतीय सिनेमा को बॉलीवुड, टॉलीवुड से अलग एक बनाया है.

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर