नई दिल्ली: 

9.30 सृष्टी गुंडो की कैद में उनसे बहुत लड़ती है वो उन लोगो को काफी भला बुरा कहती है. गुंडे उसपर नराज होकर उसे मारते हैं.सृष्टी उन लोगो को कहती है कि उसकी बहन प्रीता उसे किसी भी हालत में ढ़ूंढ़ लेगी तो वो लोग किसी वहम में ना रहे कि वो लोग उसे जान से मार देंगे. 

9.35 करण प्रीता और ऋषभ उस गुंडे के घर जाते हैं लेकिन वहां वो उसे नही मिलता है.उन लोगो के पास समीर भी आ जाता है समीर बताता है कि कैसे उसने सृष्टी की अवाज सुनी थी वो लोग उसकी बात मान कर वहीं पान की दुकान वाले से नील के बारे में पूछते हैं तब उन्हे पता चलता है कि नील की मां झूठ बोल रही थी वो दिल्ली नही गया है. 

9.40 पान वाला उन लोगो को बताता है कि उसने नील को कब और कहां देखा था जिसके बाद करण सब लोगो के साथ सृष्टी को ढ़ूढ़ने वहीं जाता है जहां पान वाले ने नील को आखिरी बार देखा था. 

9.45 रास्ते में समीर अपने आप को कोसता है कि जब उसने सृष्टी की अवाज सुनी थी तभी उसे उसकी मदद के लिये गाड़ी का पीछा करना चाहिये था. वो सोचता है कि अगर सृष्टी को कुछ हो गया तो वो अपने के कभी माफ नही कर पाएगा.

9.50 वहीं करण की भी अपनी कहानी मन ही मन चलती है जहां वो सोचता है कि नील ने प्रीता के साथ बद्तमीजि की है और वो नील से इसका बदला लेकर रहेगा. प्रीता को सृष्टी की याद आती है और वो उसे याद करते हुए रोती है. 

9.55 वहीं पृथ्वी पैसे लेकर नील के पास आता है रास्ते में नील उसे फोन करता है कि अगर वो जल्दी नही आया तो वो उस लड़की को मार देगा.पृथ्वी नील से कहता है कि वो सृष्टी को उसका नाम ना बताए लेकिन नील पृथ्वी से मजे लेता है और कहता है कि वो सृष्टी को बता देगा कि उसकी मौत के लिये किसने नील को पैसे दिये हैं जिसे सुन पृथ्वी के होश उड़ जाते हैं. 

10. वहीं प्रीता और करण वहां पहुंच जाते हैं जहां उन लोगो ने सृष्टी को छुपाया था. वहीं सृष्टी को नील से पता चल जाता है कि उसे मारने के पीछे पृथ्वी का हाथ है. 

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App