नई दिल्ली: Kundali Bhagya 10 September 2018 Full Episode Written Updat :

9.30 करीना बुआ शर्लिन को मोनिश ाके गले लगते देख लेती है. वो उससे सवाल जवाब करती है कि अचानक शर्लिन के पीछे पृथ्वी आ जाता है वो शर्लिन को बचाने के लिये उसे इशारे से कहता है कि वो वहां से चली जाए जिसे एक बार फिर से करीना देख लेती है वो पृथ्वी से पूछती है कि वो शर्लिन से ऐसा क्या कह रहा है जिसके लिये उसे साइन भाषा की जरूरत पड़ रही है. पृथ्वी बहाना बनाकर वहां से चला तो जाता है लेकिन पीछे फंस के रह जाती है शर्लिन. शर्लिन आदत के अनुसार अपने झूठे आंसू बहाती है और करीना से कहती है कि वो मोनिशा को पैसे ऑफर कर रही थी. 

9.35 करीना शर्लिन की बात पर विश्वास कर लेती है वो उसे गले लगा लेती है. कटघरे में खड़े होकर ऋषभ करण से कहता है कि वो शर्लिन से प्यार नही करता है. करण ये सुनकर हैरान हो जाता है वो कहता है कि तो पिर वो उससे शादी क्यों कर रहा था. करण ऋषभ से पूछता है कि फिर वो किससे प्यार करता है ऋषभ बताता है कि वो प्रीता से प्यार करता है, लेकिन अचानक ऋषभ अपनी बात बदल कर कहता है कि कोर्ट में प्रीता आ गई है वो ये करण को बता रहा था. 

9.40 प्रीता को कोर्ट में देखकर करण मन ही मन सोचता है कि अब उसे जेल से बाहर निकालने से कोई नही बचा सकता है. कोर्ट लगती है और अक के बाद एक करण और ऋषभ के खिलाफ सबूत पेश होते हैं. प्रीता सरला के डर से कुछ नही कहती है. मोनिशा भी वहीं बैठी होती है और झूठा रोने का नाटक करती है. 

9.45 कोर्ट सभी बात सुनकर जज अपना फैसला सुनाता है. जज कहता है कि सारे सबूतों गवाहों को देख कर ये साफ है कि करण और ऋषभ दोनो ही दोषी है. लेकिन जैसे ही वो उन दोनो के खिलाफ कोई फैसला देते उससे पहले प्रीता सामने  जाती है और कहती है कि वो इस सारे केस की चश्मदीद गवाह है. जज उसे कटघरे में आने के लिये कहता है.

9.50 कटघरे में खड़ी प्रीता एक एक कर सारी बाते सच बता देती है वो कहती है कि अगर उसने मोनिशा को कमरे से खुद बाहर निकाला था फिर वो खुद मोलेस्ट होने वहां क्यों गई. वो कहती है कि करण इतने नशे में था तो ऐसे में वो कैसे मोनिशा के साथ कुछ गलत करता. 

9.55 प्रीता की सारी बात सुनने के बाद जज उन लोगो को एक हफ्ते की छूट और बेल दोनो दे देता है. जिससे घर वाले खुश हो जाते हैं. राखी प्रीता को ना सिर्फ गले लगाती है बल्कि उससे हाथ जोड़कर माफी भी मांगती है जिसे सरला देख लेती है. 

10 सृष्टी को डर है कि कहीं सरला प्रीता को सबके सामने चांटा ना मारे वो सोचती है कि वो कैसे सरला से प्रीता को बचाए क्योंकि प्रीता उसी के कहने पर करण से मिलने जेल गई थी. दादी सरला को समझती है कि वो सबके सामने प्रीता को तेज अवाज में ना डांटे लेकिन जैसे ही प्रीता सरला के सामने आती है सरला उसे गले लगा लेती है.