नई दिल्ली:Kumkum Bhagya 12 October 2018 Full Episode Written Updates:

9. अभि और प्रज्ञा गुंडो से छुप कर उनकी कैद से नेहा और तरूण को छुड़वाने का प्लान बनाते हैं. तब अभि प्रज्ञा से कियारा के बारे में बात करता है वो उसे कहता है कि वो उससे बी ज्यादा क्यूट है. अभि के मुंह से कियारा के बारे में सुनकर प्रज्ञा को आंसू आ जाते हैं. अभि को लगता है कि प्रज्ञा को कियारा से जलन हो रही है वो उसे कहता है कि वो अब कियारा की बात नही करेगा. अभि प्रज्ञा को कहता है कि वो अपने घूंघरू से कपड़ा हटा दे और भूतनी का भेष धर ले. 

9.5 नेहा गुंडो से कहती है कि उसे डर लग रहा है वो उसे तरूण के पास उसे बांध दे. वो कहती है कि उसने सुना है कि इस जगह भूत है वो कहती है कि उसे भूत से डर लगता है. ये सुनकर गुंडे हंसते है वो कहते हैं कि ये उन लोगो का इलाका हैं यहां भूत नही आ सकते हैं. वो लोग तरूण के पास जाते हैं और कहते हैं कि वो उसकी मां से ढ़ेर सारे पैसे लेगे तरूण उन लोगो को कहता है कि उसकी मां के पास बिलकुल भी पैसे नही है. 

9.10 वो सब बात कर रहे होते हैं कि अचानक वहां अभि आ जाता है वो चिल्लाने लगता है जिसे देखकर सारे गुंडे उसके पास आ जाते है. वो जोर जोर से कहता है कि बाहर उसे एक बहुत खूबसूरत लड़की दिखी थी. वो उसका पिछा करते हुए यहां आया था लेकिन यहां आकर उसे पता चला कि वो लड़की नही बल्कि भूतनी है. लेकिन गुंडे उसकी बात पर विश्वास नही करता है. 

9.15 अभि उन लोगो को पगले तो खूब डराता है फिर अचानक वहां प्रज्ञा आ जाती है जो भूतनी के भेष में होती है. वो लोगो प्रज्ञा को देखकर डर जाते हैं प्रज्ञा भूतनी के भेष में उन लोगो को कहती है कि उसे मर्दों से नफरत है वो कहती है कि ये घर उसका है और वो लोग घर छोड़ कर चले जाए. गुंडे डर तो जाते हैं लेकिन वहां से भागते नही है. 

9.20 प्रज्ञा और अभि प्लान के मुताबिक कुछ ऐसा करते हैं जिससे उन गुंडो को लगता है कि भूतनी दूर से कैसे अभि को मार रही है कैसे उसका गला दबा रही है. दोनो की एक्टिंग इतनी शानदार होती है जिससे गुंडे फाइनली डर कर भाग जाते हैं. 

9.25 जैसे ही गुंडे जाते हैं प्रज्ञा अभि को जमीन से उठाती है और कहती है कि गुंडे चले गये हैं ये सुनकर अभि इतना खुश हो जाता है वो प्रज्ञा को जोर से गले लगा लेता है. प्रज्ञा अभि से चिपक जाती है. दोनो एक दूसरे के बहुत देर तक गले लगे रहते हैं. लेकिन जैसे ही दोनो को समझ आता है वो अलग हो जाते हैं नेहा उन लोगो को कहती है कि वो उन्हे आकर खोले. वहीं गुंडे भी डर कर भाग रहे होते हैं वो आपस में बात कर रहे होते हैं कि कैसे वक्त रहते वो लोग भूतनी से बच गए. 

9.30 रास्ते में गुंडे भूतनी कैसी होती है ये बात करते जा रहे होते हैं तो उन सब को ये समझ आता है कि जिस लड़की को उन लोगो ने देखा था उसमें भूतनी वाली कोई बात नही थी गुंडे वापस जाने का सोचते हैं और वापस आ जाते हैं. वहीं प्रज्ञा अभि उन दोनो को छुड़वा लेते हैं. अभि तरूण को खोलता है और एहसान जताता है कि उसकी मदद करने के लिये उसे ही आना पड़ा. वो लोग उन लोगो को लेकर बाहर निकल ही रहे होते हैं कि अचानक वहां गुंडे सामने आकर खड़े हो जाते हैं. 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App