बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. नीली साड़ी पहने हुए बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत कावेरी कॉलिंग जैसी पहल का समर्थन ने केवल अपने शब्दो से कर रही थी, बल्कि उनकी पोशाक भी इस बात का समर्थन कर रही थी. कंगना रनौत की आखिरी कोशिश को मीडिया ने बेशर्मी करार दिया. हालांकि इस घटना के बाद कंगना रनौत ने स्वीकार किया कि इस घटना ने उन्हें सतर्क बना दिया, खासतौर पर उस समय जब वो लोगो से अच्छा काम करने के लिए आग्रह करती हैं.

कंगना रनौत ने कहा कि मीडिया के साथ कोई भी चीज बहुत ज्यादा मुश्किल हो जाता है, क्योंकि अगर आपकी जीभ थोड़ी सी भी स्लिप हुई तो ऐसा लगने लगता है कि जैसे आप आग से खेल बैठे हैं. उस दौरान ऐसा होता है कि या तो आपकी बातो से सब कुछ ठीक हो जाता है या फिर ज्यादा नुकसाान ही हो जाता है. कंगना रनौत ने कहा कि जब मैं 20 साल की थी तो मुझे लगा कि मैं चैरिटी करूंगी, लेकिन मुझे ये लगता है कि एक व्यक्ति अकेले कुछ भी सुधार नहीं कर सकता है, उसकी सारी योजना महत्वहीन साबित होगी.

किसी भी काम के लिए हम सब को एक साथ आना पड़ेगा, तभी सफलता पूर्वक कुछ कर पाएंगे. वैसे ये सब कर पाना आसान नहीं होता है, लेकिन बहुत सारे लोग ऐसे है जिसने लिए किसी भी समाजिक हित में कार्य के योगदान करना मुश्किल नहीं होता है. इस बारे में बात करते हुए कंगना रनौत उदास हो गईं, उन्होने कहा कि जब वो 8 या 9 साल की थी तो उनके पिता ने उन्हें बताया था कि पेड़ के छल्ले उसकी उम्र को दर्शाते हैं.

कंगना रनौत ने कहा कि मैं अक्सर पेड़ की उम्र को गिना करती थी, और सोचती थी कि पेड़ को बड़ा होने में इतना समय लग जाता है, लेकिन इसे काटने में कुछ ही पल. कंगना रनौत ने कहा कि मनुष्य बहुत हीी स्वार्थी होते हैं, तो अपने स्वार्थ के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

Salman Khan NEXA IIFA Awards 2019: मुंबई में हो रहे नेक्सा आईफा अवॉर्ड्स के बारे में दंबग 3 एक्टर सलमान खान ने कही ये खास बातें

Kangana Ranaut J Jayalalithaa Biopic Jaya: जयललिता की बायोपिक जया में अपने लुक की तैयारी के लिए विष्णु इंदौरी के साथ लॉस एंजेलिस रवाना हुईं कंगना रनौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App