बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. jalebi Movie Review: भट्ट कैम्प की फिल्में रोमांटिक भले ही हों, ज्यादातर में एक डार्क साइड रहती ही है, लेकिन जलेबी में डार्क साइड बिलकुल नदारद है. सारे किरदार गुडी गुड़ी से हैं, ऐसे मैं गुडी गुडी लोग भी मामूली बातों पर कैसे अपने रोमांस और जिंदगी को जलेबी की तरह उलझा लेते हैं, वही इस मूवी की थीम है. इस बार भट्ट कैम्प ने एकदम से नए चेहरों पर दांव लगाया है, हालांकि ये उनकी पुरानी आदत भी है, इस बार डायरेक्टर भी नया है. पुष्पदीप भारद्वाज ने इससे पहले कोई फुल लैंथ मूवी डायरेक्ट नहीं की है, जबकि रेहा चक्रवर्ती, वरुण मित्रा और दिग्नांगना सूर्यवंशी पहली बार किसी ऐसी मूवी में आ रहे हैं, जिससे उनका रोल चर्चा में आ सकता है और इसके लिए खुद महेश भट्ट स्टार कास्ट को लेकर शहर शहर स्टूडियो स्टूडियो घूमे.

इस मूवी में महेश भट्ट का यूं तो सीधा कोई लेना देना नहीं, प्रोडयूस करने वाले कैम्प से जुड़े होने के अलावा, लेकिन उन्होंने अपनी आवाज एक खास तरीके से फिल्म में शामिल की है और वो है मूवी से पहले जानवर इस्तेमाल या स्मोकिंग सीन आदि के डिस्क्लेमर में. वैसे फिल्म की कहानी है एक ऐसी युवा राइटर आयशा (रेहा) की, जो बिना मां की बेटी है, अच्छी फैमिली से है, लेकिन उसको पुरानी दिल्ली का एक वैल एजुकेटेड टूअर गाइड देव (वरुण) पसंद आ जाता है, जो वहीं किसी पुरानी हवेली में अपनी मां और बहन के साथ रहता है. दोनों शादी भी कर लेते हैं, लेकिन शादी के बाद छोटी छोटी बातों और अपने टेम्परामेंट के चलते देव से अक्सर बिगड़ जाती है. मॉर्डन बीवी और मां के बीच वरुण मुश्किल में फंसता रहता है और इसी बीच प्रेग्नेंट आयशा का मिसकैरेज हो जाता है। जिसके बाद वो घर छोड़ देती है, वापस नहीं आती सालों तक.

दोनों के बीच तलाक हो जाता है, लेकिन अभी भी वो देव के इंतजार में थी. ऐसे में मुंबई से दिल्ली एक ट्रेन में आते वक्त उसके फर्स्ट क्लास के डब्बे में मिलती है देव और उसकी सात साल की बच्ची तो उसका दिल टूट जाता है, फिर देव भी रास्ते के एक स्टेशन से अपनी बीवी का बर्थडे मनाने सरप्राइज एंट्री लेता है. अब कहानी का क्लाइमेक्स कैसे होता है, यही देखने की बात है. हालांकि पूरी फिल्म ट्रेन में ही कटती है, बीच बीच में फ्लैशबैक में कहानी चलती रहती है.

फिल्म की लाइन है कि उनसे मोहब्बत कमाल की होती है, जिनसे मिलना मुकद्दर में नहीं होता. असल में इसकी थीम होनी चाहिए थी कि जिनको मोहब्बत मिल भी जाती है, उनकी हरकतों के चलते मुकद्दर उनसे उसे छीन भी लेता है. रेहा इससे पहले मैरे डैस की मारुति, सोनाली केबल, बैंक चोर जैसी फिल्मों में काम कर चुकी हैं, एमटीवी के कुछ शोज कर चुकी हैं, फ्रैश फेस हैं, रोल में काफी फिट थीं और ऐसा होना ही उनकी एक्टिंग की तारीफ है. वरुण मित्रा यूं पहले काश मूवी में आ चुके हैं, कैटरीना के साथ टाइटन रागा और आलिया के साथ जियोनी मोबाइल के एड में आ चुके हैं, कुछ ट्रेवल शो भी होस्ट कर चुके हैं, जलेबी में वो भी कमाल हैं, खासतौर पर उनकी आवाज. दिग्नांगना सूर्यवंशी को आपने वीरा जैसे कई सीरियल्स में देखा होगा, छोटे से रोल में उन्होंने अपनी छाप छोडी है.

फिल्म के कुछ गाने भी अच्छे बन पड़े हैं, लेकिन ओवरऑल ये रोमींटिक मूवी बॉक्स ऑफिस पर कोई बड़ा कमाल नहीं करेगी. ये जरूर है कि भट्ट कैम्प को काफी कमा कर देगी. कूल मूड में बिना ज्यादा की उम्मीद किए इस मूवी को देखने जाएंगे तो निराश नहीं होंगे.

Akshara Singh Photo: नवारात्री पर शेरावाली माता की भक्ति में लीन नजर आईं भोजपुरी सेंसेशन अक्षरा सिंह

Helicopter Eela Movie Review: काजोल के फैंस के लिए ट्रीट है ये मूवी, सिंगल मदर्स के लिए है मस्ट वाच

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App