नई दिल्ली:Ishq Mein Marjawan 11 September 2018 Full Episode Written Updates:

7.30  आदत के अनुसार तारा की नजर पूजा के बाद भी अंजली यानि आरोही पर टिकी होती है वो देख लेती है कि पंडित ने अंजली के हाथ में कोई चिट्ठी रखी है लेकिन जैसे ही आरोही उसे खोलती है तारा वो चिट्ठी आरोही से छीन लेती है. लेकिन ऐसा क्या लिखा होता है उस चिट्ठी में ये आज पता चलेगा. तारा को लगता है कि रिपोर्टर जो पुजारी बनकर आया था उसे अंजली ने ही घर में बुलाया था. वो कहती है कि वो दोनो क्या छुपा रहे हैं इसका पता तो वो चिट्ठी खोलकर ही राज का पता चल जाएगा. लेकिन जैसे ही तारा कागज खोलती है उसमें बप्पा की फोटो बनी हुई होती है जिसके बाद वो पुजारी की तरफ देखती है वो कहता है कि अंजली आजकल परेशान है इसिलिये उसने ये गणपति की फोटो अंजी को पर्स में रखने के लिये दी थी. 

7.35 तारा को लगता है कि पुजारी सच बोल रहा है लेकिन तारा के जाते ही वो अंजली को एक टार्च देता है और कहता है कि उसकी रौशनी में वो ये खत पढ़ सकती है. तारा पुजारी को अंजली को टार्च देते देख लेती है वो कहती है कि वो इन दोनो को जान से मार देगी. वहीं अजली कमरे में आकर चिट्ठी को पढ़ती है जिसमें लिखा होता है कि अगर वो अपने मां बाबा के पास जाना चाहती है तो उसे शाम की आरती के बाद बस स्टाप पर मिले. वहीं दीप के पास भी एक लेटर है जहां उसे 8 बजे के बाद गोदान में आने के लिये लिखा होता है. 

9.40 दीप आरोही के कमरे में जाता है जहां वो नहा रही होती है दीप उसे टावल में देखकर उसके करीब आता है. वहीं विराट अंजली पर नजर रखने के लिये उसके कमरे में कैमरा लगा देता है. विराट तारा के साथ बैठकर अपने लैपटाप पर अंजली को देखता है जहां वो दोनो दीप और अंजली को करीब देखकर हैरान पह जाते हैं दीप अंजली के बाल से कॉकरोच निकाल कर वहां से निकल जाता है लेकिन तारा विराट को कहती है कि भले ही दीप चला गया हो लेकिन ये बात तो पक्की है कि उन दोनो के बीच कुछ ना कुछ तो है.  

9.45 पूजा के बीच में ही दीप के पास फोन आता है कि उसे जो काम आठ बजे करना था वो उसके पहले ही वो काम करेगा. आरोही दीप की बात सुन लेती है वो समझ जाती है कि दीप को उसके मां पापा के बारे में पता चल चुका है इसिलिये वो उसके कमरे में भी आया था. आरती खत्म होते ही दीप बाहर चला जाता है और आरोही भी उसका पीछा करने के लिये जैसे ही कार का दरवाजा खोलती है तारा उसके गले में तलवार रख देती है. 

9.50 तारा आरोही को कहती है कि वो उसके दीप का पीछा कर रही है वो कहती है कि जो भी दीप के करीब जाने की कोशीश करता है वो उसे जान से मार देती है. तारा आरोही को कहती है कि सिर्फ एक लड़की थी आरोही जो उसके करीब जा रही थी उसने उसे भी जान से मार दिया. था. आरोही के हाथ में भी तलवार आ जाती है और वो दोनो आपसे में लड़ने लगते हैं. आरोही तारा को हरा कर किसी तरह दीप के पीछे जाती है ये देखने के लिये कि क्या वो उसके मां बाबा के पास जा रहा है. आरोही दीप की कार को देख लेती है और उसके पीछे लग जाती है.  

8. आरोही दीप का पीछा करते हुए एक खाली मकान में जाती है जहां वो देखती है कि दीप किसी पर गोली चला रहा है वो दीप वहां खड़े होकर किसी से कह रहा है कि 24 घंटे के अंदर अगर अंजली का चेहराऔर वो कोट नही मिला तो वो किसी को जिंदा नही छोड़ेगा. वहां छुपी आरोही समझ जाती है कि उसके पास सिर्फ 24 घंटे हैं अपने मां बाबा को बचाने के लिये. 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App