नई दिल्ली: 

7.30 जब से आरोही को ये पता चला है कि दीप ने भाभी को जान से मारा है वो दीप को जान से मारने का प्लान बनाती है. लेकिन हर बार उसकी चाल फेल हो जाती है कभी खाने में जहर तो कभी ड्रिंक में जहर डाल कर वो उसे मारने की कोशीश करती है लेकिन एक बार फिर दीप बच जाता है. 

7.35 दीप ड्रिंक को फेंक देता है जिसके बाद आरोही समझ जाती है कि कोई है जो दीप को बता देता है कि आरोही उसे मारना चाहती है लेकिन वो कौन है और कैसे ये सब जान रहा है.

7.40 आरोही बीच रात को उठकर दीप के सामान और फोन की चेकिंग करती है जिसे दीप देख लेता है दीप आरोही जिसे वो तारा समझता है उसे समझाने की कोशीश करता है कि उसे स्टिव ने बटाया था कि उसके खाने और पीने के समान में जहर है. 

7.45 आरोही दीप का पिछा करती है जहां वो देखती है दीप किसी से कोई संदिग्ध समान ले रहा है वो दीप से उस आदमी से मुलाकात की बात भी पूछती है दीप उसे बताता है कि वो तारा यानि उसके लिये बंदूक का इंतजाम कर रहा था क्योंकि उसे डर है कि कोई उसे नुक्सान ना पहुंचाये. 

7.50 एक तरफ आरोही को लगता है कि दीप तारा के साथ मिला है और वो उसकी सच्चाई जानने के बाद भी उसे जाल में फंसा रहा है लेकिन वहीं वो उसकी रक्षा भी कर रहा है ऐसे में क्या दीप सच में ये जानता है कि तारा भी लंदन में मौजूद है.

7.55 आरोही तारा को फोन करती है और कहती है कि सामने आकर बात करे. तारा आरोही से मिलने के लिये तैयार हो जाती है. वो तारा से मिलती है उसे विश्वास दिलाती है कि दीप सिर्फ आरोही से प्यार करता है ना कि तारा से,तारा भी ये जानती है कि दीप का प्यार आरोही ही है. 

8. तारा को इतना गुस्सा आता है कि वो आरोही के गले लगने के बहाने उसकी पीठ पर किसी नशीले इंजैक्शन का वार करती है वो उसे इतने जोर से मारती है कि आरोही दर्द से करहा जाती है.आरोही वही गिर जाती है. 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App