महाराष्ट्र. Kangana Ranaut एक्ट्रेस कंगना रनौत हाल ही में अपने बयान के चलते खूब सुर्खियां बटोर रही हैं। कंगना अपने इस बयान को लेकर काफी विरोध का सामना कर रहीं। कंगना के इस बयान को सुन राखी सावंत ने भी एक वीडियो का सहारा लेते हुए अपनी प्रतिक्रिया ज़ाहिर की और उस वीडियो में राखी सावंत ने कंगना रनौत को खूब खरी-खोटी सुनाई।

राखी सावंत ने खरी-खोटी सुनाई

अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से लाइव आ कर राखी सावंत ने कंगना रनौत को खूब सुनाया जिसे बाद में उन्होंने अपने पर उस वीडियो को शेयर भी किया। वीडियो में राखी सावंत कहती हैं “दोस्तों, मैं हॉस्पिटल में हूं,आप देख सकते हैं की नर्स मुझे चेक कर रही है। दोस्तों में बीमार हो गयी हूं मैं शॉक में हूं एक अभिनेत्री ने कहा है जिनको हाल ही में पद्मश्री अवार्ड मिला है, उन्होंने कहा है की हमे आज़ादी भीख में मिली है. उन्होंने कहा है की देख को आज़ादी 2014 में मिली है, और हमारे देख को आज़ादी भीख में दी गयी, हम पर दया की गयी. क्या आप लोग अपने देश से प्यार नहीं करते, मैं तो बहुत करती हु और मुझे पता है आप लोग भी बोहोत करते हो. ऐसे लोगों को पद्मश्री दिए जाते है. भीख तो तुम्हे मिली है, तुमने भीख मांगी है तो तुम्हे मिली है. हमारे देश के जवानो ने इतना बलिदान दिया, कारगिल पर झंडा लहराया और जीत हासिल की. हमारे जवानो ने चीन, पाकिस्तान पर जीत हासिल की, क्या उनका बलिदान व्यर्थ है जो ऐसे-ऐसे कमैंट्स किये जा रहे हैं, मुझे बहुत दुःख हो रहा है दोस्तों। बड़े बड़े लीजेंड, योद्धा आज कल का कोई आकर कैसे बोल सकता है क, ऐसे लोगों को कोई बढ़ावा कैसे दे सकता है.”

विशाल डडलानी ने की निंदा

आपको बता दे की हाल ही में कंगना रनौत ने एक न्यूज़ चैनल के प्रोग्राम में बात करते हुए कहा था की 1947 में हमे आज़ादी नहीं बल्कि भीख मिली थी। कंगना कहना चाहती थी की असल में आज़ादी हमे नरेंदर मोदी की सरकार बनने के बाद साल 2014 में हासिल हुई थी. कंगना के इस बयान पर बवाल मचा हुआ है। बयान पर म्यूजिक क्प्म्पोज़र विशाल डडलानी ने कंगना की खूब निंदा की और अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक अपनी एक फोटो शेयर की जिसमे भगत सिंह की तस्वीर बनी हुयी है और कैप्शन में लिखा “उस महिला को याद दिला दें जिन्होंने कहा की आज़ादी भीख थी. 23 साल की उम्र में शहीद भगत सिंह ने आज़ादी के लिए जान दे दी थी” उन्होंने आगे लिखा “भगत सिंह अपने चेहरे पे मुस्कान लिए और गाना गाते हुए फँसी पर चढ़ गए थे। उस महिला को याद दिला दीजिये की सुखदेव, राजगुरु, अश्फाकुल्ला और हज़ारों ने झुकने से मन कर दिया था और भीख मांगने से मना कर दिया था. आराम से लेकिन मज़बूती के साथ याद दिला दें ताकि वह दुबारा यह कहने की गलती ना करें”

पद्माश्री वापस लौटा दूंगी: कंगना रनौत

कंगना के बयान को लेकर विरोध चलते के बीच कंगना ने अपनी इंस्टाग्राम अकाउंट से एक स्टोरी शेयर करते हुए लिखा “सिर्फ सही विवरण देने के लिए… 1857 में स्वतंत्ररा के लिए पहले सामूहिक लड़ाई थी और सुभाष चंद्र बोस, रानी लक्ष्मीबाई और वीर सावरकर जी जैसे महान लोगों ने अपनी जान दी” आगे उन्होंने लिखा “1857 के बारे में मुझे पता है लेकिन 1947 में कोण सा युद्ध हुआ था, मुझे पता नहीं, अगर कोई मुझे अवगत करा सकता है तो मैं अपना पद्मश्री वापस लौटा दूंगी और सबसे माफ़ी भी मांगूगी। कृपया मेरी मदद करें”

यह भी पढ़ें:

Delhi Pollution: प्रदूषण पर SC की फटकार के बाद एक्शन में आई केंद्र सरकार, बुलाई आपात बैठक

Masked crook Try to rob alone woman in House नकाबपोश बदमाश ने घर में घुसकर की लूट की कोशिश

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर