Dia Mirza Pregnancy Experience

नई दिल्ली, Dia Mirza Pregnancy Experience  साल 2020 दीया मिर्ज़ा के लिए ख़ास रहा. एक्ट्रेस ने जहां, शादी कर अपना घर बसाया वहीं, उनको माँ बनने का भी सुख प्राप्त हुआ. यह अनुभव उनके लिए आसान नहीं था. जिसके चलते उन्होंने बच्चे को जन्म देने और मौत के मुँह से वापस आने के अनुभव को साझा किया.

एक न्यूज़ चैनल के साथ बातचीत के दौरान दीया बताती हैं, प्रेगनेंसी के पांचवे महीने बाद उन्हें अपेन्डेक्टोमी (एपेंड‍िक्स हटाने की सर्जरी) का ऑपरेशन करवाना पड़ा. जिसके बाद उन्हें एक्यूट बैक्ट‍िर‍ियल इंफेक्शन से भी लड़ना पड़ा. इस दौरान उन्हें कई बार अस्पताल आना-जाना पड़ता था.

दिया ने प्रीमेच्यौर बेबी को जन्म

दिया बताती हैं कि उनके बच्चे की डिलीवरी कैसे तब ज़रूरी हो गयी जब उनको पता चला की उनके प्लेसेंटा (बच्चेदानी के अंदर का वो अंग जो कोख में पल रहे बच्चे को ऑक्सीजन और न्यूट्र‍ियंट्स देता है) में खून बहने लगा है. दीया अपनी गायनेकोलॉज‍िस्ट को शुक्रिया करते हुए कहती हैं कि डॉक्टर की वजह से ही उनकी और उनके बच्चे की जान बच पायी.

पैंडेमिक के समय बनी थी दिया ‘माँ’

दीया मिर्ज़ा ने जब अपने पहले बच्चे को जन्म दिया था तब देश कोरोना पैंडेमिक के दौर से गुज़र रहा था. उस समय के बारे में बात करते हुए दीया साझा करती हैं कि, उस दौर ने हम सभी के फैसले को प्रभावित किया. जब आप घर पर रहते हैं और एन्जॉय करते है तो आप अपने और अपने बच्चों के लिए वो हर संभव प्रयास करते है जिससे की वह सुरक्षित रहे. बता दें कि अभिनेत्री दीया ने अपने परिवार के नए सदस्य के बारे में 2021 में बताय था. मीडिया और बाकी सब तक यह गुड न्यूज़ बेटे के जन्म के दो महीने बाद पहुंची थी. उस वक़्त दीया ने एक इमोशनल नोट लिखकर बेटे अव्यान के प्रीमैच्योर होने की बात कही थी.

 

यह भी पढ़ें:

Corona Cases in India today : देश में कोरोना का कोहराम, एक दिन में मिले 1.80 लाख केस, 146 की मौत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर

SHARE