बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण ने बेशक अपने डिप्रेशन के बारे में स्वर उठाए हो. लेकिन वो कहती हैं कि इस बारे में खुलासा करते समय वो बिलकुल भी ब्रेव नहीं थीं. 32 वर्षिय एक्ट्रेस ने कहा, कि जब पहली बार अपने स्ट्रगल के बारे में शेयर किया तो मैं बस ये चाहती थी कि खुद से और दुनिया से मैं इमानदार रहूं. दीपिका ने कहा कि चार साल पहले मैंने बिलकुल नहीं सोचा था कि दुनिया के सामने मैं अपने डिप्रेशन के बारे में खुलासा करूंगी तो ब्रेव कहलाउंगी.

दीपिका ने कहा कि उस समय मुझे लगा कि इसे बताना बहुत जरूरी है कि किसी चीज ने मेरी लाइफ को बदल दिया है. दीपिका ने कहा कि मुछे खुद नहीं पता था कि मेरे साथ क्या हो रहा है. ये बात सबसे पहले मेरी मां उज्जवला पादुकोण को पता चली. उन्होनें मेरे अन्दर इसके सिमटर्म को पहचाना. उसके बाद मुझे काउंसल के पास ले गईं. उस वक्त मैं बिलकुल भी मोटिवेट महसूस नहीं करती थी. बिलकुल भी खुश नहीं रहा करती थी. दीपिका ने कहा कि हर किसी की अपनी एक स्टोरी होती है, किसी को भी जज नहीं करना चाहिए.

इस इंटरव्यू में दीपिका ने कहा कि जब मैं चिंतित होती हूं , तो अपने पेट में गांठ महसूस करने लगती हूं. तो मुझे लगता है कि मुझे अपनी सोच पर काबू करना चाहिए. और अपना ख्याल रखना चाहिए. जसके बाद अच्छे से सांस लेना और सोना जरूरी होता है. इस बिमारी ने मेरे अंदर हेल्थ को लेकर बहुत जागरूकता पैदा की है. ये मेरे लाइफ का बहुत बुरा अनुभव था, इसलिए मैं हमेशा ध्यान देती हूं. अभी भी लगता है कि मैं फिर से डिप्रेशन में जा सकती हूं. इसलिए मैं हमेशा अपनी सोच, फिलिंग और विचारों पर काबू करना चाहती हूं. 

OMG रणवीर सिंह नहीं बल्कि एक्स बॉयफ्रेंड रणबीर कपूर रखते हैं दीपिका पादुकोण से ये बात कहने की हिम्मत

दीपिका पादुकोण का Elle मैगजीन के कवरपेज पर दिखा सेक्सी रेट्रो लुक, रणवीर सिंह के साथ आप भी हो जाएंगे फिदा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App