नई दिल्ली. अमिताभ बच्चन जोधपुर में ‘ठग्स ऑफ हिंदुस्तान’ की शूटिंग करते वक्त अचानक बीमार हो गए. 75 साल के अमिताभ बच्चन के लिए इस उम्र में इतना काम करना वाकई में अनोखा है. आज भी जिम जाते हैं, खुद को फिट रखने की कोशिश करते हैं, शूटिंग्स ही नहीं तमाम तरह के सोशल कैम्पेन्स भी करते हैं. सोशल मीडिया पर भी बच्चन की सक्रियता में कोई कमी नहीं. ऐसे में जब आपको ये पता चले कि अमिताभ बच्चन केवल 25 फीसदी लीवर पर जिंदा हैं तो आप हैरान रह जाएंगे. लेकिन यही सच है और इस बात का खुलासा खुद अमिताभ बच्चन ने ही किया था.

अमिताभ के स्वास्थ्य से जुड़ी आमतौर पर एक ही घटना उनके फैंस को याद रहती है, कुली के दौरान पुनीत इस्सर के घूंसे के बाद उनके पेट में जो मेज का कौना घुस गया था. अमिताभ बच्चन के लिए कुली के एक्सीडेंट के बाद पूरे देश ने दुआएं की थीं. शायद की देश में किसी के लिए इतनी दुआएं हुई हों, असर भी हुआ, अमिताभ बच्चन बच गए और फिर से परदे पर वापसी की. कुली की ये चोट तो ठीक हो गई लेकिन एक वायरस रह गया, जिसके चलते अमिताभ का लीवर खराब हो गया. ये था हेपेटाइटिस बी का वायरस. दरअसल कुली के एक्सीडेंट के बाद अमिताभ को 200 ब्लड डोनर्स ने कुल 60 बोतल खून दिया था. उस वक्त जांच की ज्यादा अच्छी व्यवस्था नहीं थी. किसी डोनर को हेपेटाइटिस बी था, जो अमिताभ के शरीर में भी खून के जरिए आ गया.

अमिताभ को इस वायरस के बारे में सन 2000 में पता चला, डॉक्टर्स ने जांच की तो पाया कि अमिताभ बच्चन का 75 फीसदी लीवर तो खत्म हो चुका है. केवल 25 फीसदी ही बचा है. डॉक्टर्स की मेहनत और अमिताभ की इच्छाशक्ति के चलते वो आज भी सामान्य जीवन बिता रहे हैं. इस बीमारी का खुलासा भी खुद अमिताभ बच्चन ने ही किया. वो भी तब जब अमिताभ बच्चन हेपेटाइटिस बी पर एक सरकारी कैम्पेन के लिए मीडिया को ब्रीफ कर रहे थे. डॉक्टर्स ने उन्हें बताया था कि 12 फीसदी लीवर भी आदमी जिंदा रह सकता है.

इसी तरह अमिताभ बच्चन को एक और भयंकर बीमारी ने कभी घेरा था, वो थी टीबी यानी ट्यूबरक्लोसिस की बीमारी. एक दौर में ये बीमारी इतनी भयंकर थी कि पंडित नेहरू की पत्नी कमला नेहरू स्विटजरलैंड में इलाज करवाने पर भी बच नहीं पाई थीं, सुभाष चंद्र बोस जैसे दिग्गज भी इससे पीड़ित रहे थे, लेकिन बच्चन के सामने तक इसका अच्छा इलाज मुमकिन हो चला था. इलाज के बाद उन्होंने टीबी पर तो काबू पा लिया. जब अमिताभ बच्चन को केन्द्र सरकार के एंटी टीबी कैम्पेन का चेहरा बनाया गया, तब अमिताभ ने मीडिया के सामने अपनी इस बीमारी के बारे में बताया कि इस पर उन्होंने कैसे काबू पाया.

जाहिर है ये अमिताभ बच्चन के ही वश की बात है कि वो इतनी बड़ी बड़ी बीमारियों और दुर्घटनाओं से जूझते रहने के बावजूद भी अपने फैंस को निराश नहीं होने देते. शायद ही कोई साल जाता हो जब वो किसी फिल्म या एड की शूटिग में व्यस्त नहीं रहते. हर संडे अपने आवास पर अपने फैंस को मिलते हैं, रोज ब्लॉग लिखते हैं, नए खिलाड़ियों और अभिनेताओं का का ट्विटर पर हौसला बढ़ाते रहते हैं और तमाम सरकारी गैरसरकारी सोशल कैम्पेन्स को भी पूरा समय देते रहते हैं. उन्हें यूं ही महानायक नहीं कहा जाता.

अमिताभ बच्चन की सेहत में सुधार, जल्द शुरू करेंगे ठग्स ऑफ हिंदोस्तान की शूटिंग

अमिताभ बच्चन की तबीयत खबर होने की खबर ने फैंस को किया निराश, सोशल मीडिया पर दुआओं का लगा तांता

ठग्स ऑफ हिंदोस्तान की शूटिंग के दौरान अमिताभ बच्चन की सेहत हुई नासाज, जोधपुर अस्पताल में भर्ती

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App