कोरोना के चलते फिल्म इंडस्ट्री को पिछले एक साल से काफी नुक्सान हुआ है. सिनेमा हॉल बीते एक साल से बंद है, ऐसे में सभी फिल्मे OTT प्लेटफॉर्म की ओर रुख कर रही हैं. हाल ही में रिलीज़ हुई अक्षय कुमार की बेलबॉटम फिल्म से दर्शकों और मेकर्स को काफी उम्मीदें थी लेकिन यह फिल्म भी उतना कमाल नहीं कर पाई.

फ़िल्म को प्रदर्शित नहीं करने का फ़ैसला हर देश का निजी मामला : निर्माता मधु भोजवानी

अक्षय कुमार की फिल्म बेलबॉटम बॉक्स ऑफिस पर उतना कमाल नहीं कर पाई, लेकिन मेकर्स को इससे भी बड़ा झटका तब लगा जब कुवैत, सऊदी अरब और कतर जैसे देशों ने इस फिल्म की मंजूरी पर रोक लगा दी. ‘बेलबॉटम’ पर तीन खाड़ी देशों में लगी पाबंदी पर फ़िल्म की निर्माता मधु भोजवानी का कहना है कि, “फ़िल्म को प्रदर्शित नहीं करने का फ़ैसला हर देश का निजी मामला है. हमने एक फ़िल्म बनाई जो सच्ची घटनाओं से प्रेरित है. उस हिसाब से हमने लोगों या किरदारों को दर्शाया है. काफ़ी चीज़ें काल्पनिक भी ली हुई हैं. किसी देश ने कोई फ़ैसला लिया है तो वो उनका निज़ी मामला है. इस पर हम कुछ नहीं कह सकते.”
फिल्म के कंटेंट को लेकर आपत्ति जताने पर निर्माता का कहना है कि वो इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया नहीं देना चाहते.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर