बॉलीवुड डेस्क, मुंबई. धार्मिक ग्रंथ बेअदबी मामले में बुधवार सुबह अभिनेता अक्षय कुमार चंडीगढ़ SIT के सामने पेश हुए. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक SIT टीम ने उनसे धार्मिक ग्रंथ बेअदबी मामले को लेकर सवाल-जवाब किए. दरअसल ये मामला साल 2015 का है उस समय पंजाब में अक्षय कुमार एक परफॉर्मेंस देने गए थे जहां श्री गुरुग्रंथ साहिब और अन्य धार्मिक ग्रंथों का अपमान होने की खबर के बाद दंगे भड़क उठे. धार्मिक भावनाएं आहत होने के कारण लोगों ने वहां जमकर तोड़फोड़ और हिंसा की.

इसे रोकने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी जिसमें कई लोगों की मौत हुई. मामले की जांच के दौरान हिंसा को भड़काने का आरोप डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह पर लगा. मामले की जांच अभिनेता अक्षय कुमार तक भी पहुंची. उनपर आरोप लगा कि  उन्होंने गुरमीत राम रहीम सिंह को माफी दिलवाने के लिए उसकी मुलाकात तत्कालीन उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल से करवाई और इस दौरान दोनों के बीच बिचौलिए की भूमिका निभाई. 

मामले की जांच कर रही जस्टिस रणजीत सिंह आयोग की रिपोर्ट में अक्षय कुमार का नाम सामने आने के बाद उनसे पूछताछ की जा रही है. जानकारी के मुताबिक इस केस में हो रही पूछताछ की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जा रही है.  हालांकि अक्षय ने इस मामले पर सफाई देते हुए उनके ऊपर लगे सभी आरोपों को खारिज कर करते हुए कहा है कि उन्हें गलत तरीकों से इस केस में घसीटा जा रहा है.

अक्षय कुमार ने कहा कि ‘मुझे नहीं पता क्यों मुझे इस केस में खींचा जा रहा है. मुलाकात के सभी आरोप एक फिल्म की स्क्रिप्ट की तरह हैं. मैं 2011 में पंजाब में एक परफॉर्मेंस के लिए था तब मैं सुखबीर बादल से मिला था.’ अक्षय ने सारे आरोपों को तो खारिज कर दिया है लेकिन इस बात को मान लिया है कि वो पंजाब में सुखबीर बादल से मिले थे.

2.0 Earns 120 Crore Before Release: रिलीज से पहले 100 करोड़ के क्लब में शामिल हुई रजनीकांत, अक्षय कुमार की फिल्म 2.0, कमाए 120 करोड़

2.0 New Poster: रजनीकांत की 2.0 से सामने आया अक्षय कुमार का बेहद डरावना लुक

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App