मुंबई. ‘देव डी’ और ‘मार्गरीटा, विद ए स्ट्रॉ’ जैसी फिल्मों में बेहतरीन अदाकारी करने वाली अभिनेत्री कल्कि कोचलीन स्कूली दिनों में काफी शर्मीली थीं. कल्कि का कहना है कि वह स्कूल के दिनों में अपने मजाकिया लहजे के पीछे अपनी कमजोरी को छिपा लेती थीं. कल्कि ने कहा है कि, “मैं स्कूल के दिनों में 13 साल की उम्र तक काफी शर्मीली थी. उसके बाद मैंने महसूस किया कि मैं अच्छा मजाक कर सकती हूं.

मैंने अपने शर्मीलेपन को अपने हास्य के पीछ छिपा दिया.’ उन्होंने शिक्षा के महत्व के बारे में बताया, “हमारे देश को आगे बढ़ने के लिए शिक्षा बहुत जरूरी है. मुझे अच्छी शिक्षा हासिल करने का सौभाग्य मिला.’ कल्कि का मानना है कि शिक्षा अकादमिक रूप से ही नहीं बल्कि सामाजिक शिक्षा के संदर्भ में भी बहुत जरूरी है.’

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App