नई दिल्ली. चाइना गेट, कुरुक्षेत्र, प्यार तो होना ही था, चुप-चुपके, भवनी भवई, स्पर्श, मंडी, आक्रोश और शोध जैसी फिल्मों सैंकड़ों फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाने वाले सिने स्टॉर ओमपुरी का आज 66 वां जन्मदिन हैं. ओमपुरी का जन्म हरियाणा के अंबाला में एक पंजाबी हिन्दू परिवार में हुआ था. उनके पिता इंडियन आर्मी में थे.  
 
ओम पुरी के घर की आर्थिक स्थिति काफी खराब थी कि वो कोयला बीनकर अपना पेट भरते थे.  इतना ही नहीं परिवार की जरूरतों को पूरा करने के लिए उन्होंने सात साल की उम्र में एक ढाबे पर भी काम किया. यहां वो बर्तन धोने का काम करते थे. कुछ दिनों बाद ही मालिक ने उन पर चोरी का इल्जाम लगाया और नौकरी से निकाल दिया. 
 
बचपन में तकलीफों को झेलते हुए जैसे तैसे ओमपुरी ने पुणे के एफटीआईआई से ग्रेजुएशन किया था. उसके बाद 1973 में इन्होंने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा दिल्ली से अभिनय का कोर्स किया था. एनएसडी में उनके साथ नसीरुद्दीन शाह भी थे. ओमपुरी ने अपने अभिनय की शुरुआत 1976 में एक मराठी फिल्म से किया था. इसके बाद ओमपुरी ने हिन्दी सिनेमा में कई शानदार फिल्मों में अपने अभिनय का लोहा मनवाया था. 
 
ओमपुरी का जीवन विवादों से घिरा रहा है. उनकी पत्नी ने उन पर एक किताब लिखी थी. जिसमें काफी चौंकाने वाले खुलासे किए गए थे. पत्नी ने लिखा था कि ओमपुरी ने 14 साल की उम्र में 55 साल की नौकरानी के साथ सेक्स किया था. पत्नी नंदिता ने किताब में खुलासा किया कि मामा के घर पर काम करने वाली 55 साल की नौकरानी से उन्हें प्यार हो गया था. 
 
पत्नी ने लिखा है कि एक दिन घर की लाइट चली गई. नौकरानी ने मौका देखकर 14 साल के ओमपुरी को पकड़ लिया और उनके साथ शारीरिक संबंध बनाये. वो नौकरानी ओमपुरी का पहला प्यार थी. पत्नी के द्वारा लिखी गई इस किताब का नाम है ‘असाधारण नायक ओमपुरी’.