मुंबई. उरी अटैक के बदले में भारतीय सेना की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद दोनों देशों के बीच काफी तनाव बढ़ गया है. इस तनाव का सीधा असर बॉलीवुड में भी नजर आ रहा है. फिल्म निर्माताओं की सबसे बड़ी संस्था इंडियन मोशन पिक्चर्स प्रोड्यूसर एसोसिएशन (इम्पा) ने पाकिस्तानी कलाकारों पर अपने यहाँ काम करने पर पाबंदी लगाने का फैसला किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पाकिस्तान की तरफ से आतंकवाद को लगातार दी जा रही शह के खिलाफ देश भर में बढ़ रहे आक्रोश के मद्देनज़र बॉलीवुड का यह सबसे बड़ा फैसला है. इम्पा की हुई एनुवल जनरल मीटिंग में बॉलीवुड के करीब 200 फिल्म निर्माता जुटे थे और उन्होंने सर्वसम्मति से पाकिस्तानी कलाकारों से फिल्मों में काम नहीं करवाने का निर्णय किया.
 
 
इम्पा की बैठक में इस संबंध में प्रस्ताव लाया गया था जिसके बाद यह तय हुआ कि जब तक हालात सामान्य नहीं होते, तब तक कलाकारों के साथ पाकिस्तानी टेक्नीशियनों से भी काम नहीं लिया जायेगा.
 
मनसे ने दी धमकी
बैठक के बाद निर्माता टी पी अग्रवाल और अशोक पंडित ने इसकी पुष्टि की. अग्रवाल ने अपनी फ़िल्म से राहत फतह अली खान का रिकार्ड किया गाना हटा दिया है, जबकि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना ने भी फ़िल्म ‘ऐ दिल है मुश्किल’ से फवाद खान और ‘रईस’ से माहिरा खान को न हटाये जाने पर फ़िल्म को रिलीज नहीं होने देने की धमकी दी है.