मुंबई. अमिताभ बच्चन ने अनिरुद्ध रॉय चौधरी निर्देशित फिल्म ‘पिंक’ की तारीफ करते हुए कहा कि  यह मूवी महिलाओं के लिए खुलकर बोलने का अच्छा अवसर हैं.
 
बता दें कि 73 वर्षीय अभिनेता अमिताभ बच्चन पिंक में एक वकील का किरदार निभा रहे हैं, जिसके निर्माता शुजीत सरकार हैं 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बीग बी ने एक इंटरव्यू के दौरान कहा, ‘फिल्म पिंक सिर्फ एक कलर नहीं है या फिर इसमें सिर्फ यंग बार्बी गर्ल के प्रतीक को नहीं बताया गया है. पिंक का मतलब होता है कि हर महिला या लड़की भी रात में घूमने के स्वतंत्र  है’ इस फिल्म के जरिए महिलाएं खुलकर बोल सकती हैं. अपने खिलाफ हो रहे अत्याचार के खिलाफ आवाज उठा सकतीं हैं. 
 
बीग बी ने अपनी फिल्म ‘पिंक’ का बखान करते हुए कहा कि यह एक ऐसी मूवी है जो यह दर्शाती है कि भारत और पूरे विश्व में महिलाएं किस तरह की परिस्थितियों और समस्याओं का सामना करती हैं. फिल्म में वर्किंग वुमन के किरदार निभाने वाली अभिनेत्री तापसी पन्नू का रोल वाकई जबरदस्त है. इससे देश की लड़कियों को सीख मिलेगी कि उन्हें भी पुलिस स्टेशन जाना चाहिए और महिलाओं पर हो रहे अपराध के खिलाफ विरोध करना चाहिए. यही इस मूवी का समाज के लिए मैसेज हैं.
 
गौरतलब है कि पिंक 16 सितंबर को रिलीज हो चुकी है. जिसकी कहानी दिल्ली की पृष्ठभूमि पर आधारित है. इसके साथ ही समाज के लिए एक स्ट्रॉन्ग मैसेज भी देती है. बता दें कि पिंक लोगों को काफी पसंद आ रही हैं. बॉक्स ऑफिस पर अच्छा बिजनेस भी कर रही है.