मुंबई. बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान का कहना है कि उनका किसी राजनीतिक पार्टी से कोई विवाद नहीं है. उन्होंने कहा कि देश ने बहुमत से नरेंद्र मोदी जी को भारत का प्रधानमंत्री चुना है तो हम सभी को उनका समर्थन करना चाहिए. शाहरुख ने ये भी कहा कि कभी-कभी वह बहुत दुख महसूस करते हैं जब उन्हें अपनी देशमक्ति साबित करने को कहा जाता है. उन्होंने ये भी कहा कि मुझसे बड़ा कोई देशभक्त नहीं है. शाहरुख ने पिछले साल नवंबर में एक समारोह में कहा था कि धार्मिक असहिष्णुता से ज्यादा बुरा कुछ भी नहीं है और यह भारत को आदिम युग में ले जाएगा. बीजेपी के कई नेताओं ने उनके बयान की निंदा की थी और कहा था कि उनका बयान कांग्रेस के समर्थन में है.
 
‘मोदी महान नेता हैं’
शाहरुख ने कहा है कि मेरी सभी राजनीतिक पार्टियों में दोस्त मानते हैं. शाहरुख ने एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में कहा कि मैं साफ तौर पर कहना चाहता हूं कि जब हम अपने देश का नेता चुनते हैं, वह चाहे जो भी हों, नरेंद्र मोदी जितना महान हो, हमें उनका समर्थन करना चाहिए और देश को आगे ले जाना चाहिए. हमें नकारात्मक नहीं होना चाहिए. कार्यक्रम के मेजबान द्वारा यह पूछे जाने पर कि यह धारणा है कि कांग्रेस में उनके दोस्त हैं, जो मोदी से निपटना चाहते हैं, शाहरुख ने कहा कि मैं यह कैसे सोच सकता हूं कि मैं किसी से निपट सकता हूं. आप मुझे वर्षों से जानते हैं, मैं गैर राजनीतिक हूं, हालांकि हर जगह मेरे दोस्त हैं.
 
‘मेरे बयान को गलत दिखाया’
शाहरुख ने यह भी स्पष्ट किया कि ‘असहिष्णुता’ पर उनके बयान को गलत तरीके से लिया गया. उन्होंने कहा कि मैंने युवाओं को केवल क्षेत्रीयता, धर्म, जाति और रंग के मुद्दों पर सहिष्णु रहने की सलाह दी थी. मेरे पिता एक स्वतंत्रता सेनानी थे. मुझे देश ने सब कुछ दिया है, मैं शिकायत करने वालों में सबसे आखिरी होऊंगा.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App