Holi 2022 

नई दिल्ली, Holi 2022  खुशियों और रंगों का त्योहार होली को कुछ ही दिन का समय है. धार्मिक दृष्टि से काफी महत्व रखने वाला ये पर्व काफी प्रेम से मनाया जाता रहा है. इस पर्व पर कई बार हम फिल्मों और असल जीवन में भी लोगों को रंग खेलते हुए सफ़ेद कपड़े पहने देखते हैं. आइये अब आपको इसके पीछे की वजह बताते हैं.

सफ़ेद वस्त्र पहने जाने की परंपरा

फाल्गुन मास के शुरू होते ही घरों में होली की तैयारियां शुरू हो जाती हैं. लोग तरह तरह के व्यंजन बनाते हैं. पूजा की सामग्रियों का इंतज़ाम करते हैं. और रंग खेलने के लिए उत्साहित लोग सफ़ेद कपड़ों का इंतज़ाम करना शुरू कर देते हैं. सफ़ेद कपड़ो में रंग खेलने का नियम होली पर हमेशा से रहा है.

दिवाली और अनेक शुभ अवसरों पर लोग रंग बिरंगे कपडे पहनते हैं. हिन्दू रीती रिवाज़ों के अनुसार भी काले और सफ़ेद रंग के कपड़ों को शुभ अवसरों पर पहनने से बचा जाता रहा है. तो फिर क्या कारण हैं की होली के दिन लोग सफ़ेद कपड़े पहनते हैं. ऐसा करने के पीछे एक नहीं बल्कि कई कारण हैं जिसे आज हम आपको बताने जा रहे हैं.

इस कारण से नहीं पहनते रंगीन कपड़े

-होली पर सफ़ेद रंगों को सकारात्मकता के लिए पहना जाता है.
-सफ़ेद रंग को भाईचारे, शांति और सुख-समृद्धि के प्रतीक के रूप में देखा जाता रहा है. इसलिए शुभ अवसर के होने पर इसे होली के दिन पहना जाता है.
-सफ़ेद कपड़े पहनने से मन हमेशा शांत रहता है. ज़्यादा क्रोध करने वाले लोगों पर सफ़ेद रंग का अच्छा असर पड़ता है.
-सफ़ेद रंग समाज में अच्छे स्वभाव को पैदा करने का काम पूरा करता है. होलिका दहन के समय भी इसलिए लोग कई बार आपको सफ़ेद वस्त्रों में देखने को मिलते हैं.
-होली का त्योहार अक्सर खुले में मनाया जाता है. जहां सूर्य की अच्छी धुप पड़ती हो और इस धुप और गर्मी से बचने के लिए लोग अक्सर ही सफ़ेद कपड़े पहनते हैं. गर्मी के मौसम में सफ़ेद रंग आपको गर्माहट से राहत देता है और शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है.

बताते चलें, फाल्गुन मास की पूर्णिमा के दिन होलिका दहन मनाया जाता है. जबकि अगले ही दिन यानि चैत्र माह की प्रतिपदा तिथि को लोग रंग वाली होली खेलते हैं. इस साल 2022 को ये तिथि 17 को होलिका दहन और 18 को रंग वाली होली के तौर पर मनाया जाना है.

यह भी पढ़ें:

Sandeep Nangal Ambiya: जालंधर में मैच के दौरान इंटरनेशनल कबड्डी प्लेयर को गोलियों से भूना

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर