इंदौर. मालवा में स्थित है विश्व प्रसिद्ध खजराना का गणेश मंदिर. इस मंदिर का निर्माण 1735 में होल्कर वंश की महारानी अहिल्याबाई होल्कर ने कराया था. कहा जाता है कि जो भी श्रद्धालु अपनी मनोकामना के साथ इस मंदिर में आता है उसकी कामना अवश्य पूरी होती है.
 
बुधवार को होती है भक्तों की भीड़
वैसे तो मंदिर में रोजाना पूजा होती है. 24 घंटे अखण्ड पाठ भी होता है, लेकिन बुधवार के दिन मंदिर में भक्तों की खासी भीड़ होती है. इस दिन करीब डेढ़ लाख श्रद्धालुओं पहुंचते हैं. गणेश जी की मंदिर के अलावा मंदिर परिसर में 33 और मंदिर हैं. यहां के लोगों की मान्यता है कि कोई भी शुभ कार्य खजराना के गणेश जी को न्योता दिए बिना पूर्ण नहीं हो सकता, इसलिए किसी भी शुभ कार्य से पहले भक्तगण खजराना मंदिर में न्योता जरूर भेजते हैं, चाहे शादी करनी हो, घर बनवाना हो या फिर गृह प्रवेश ही क्यों न हो. मंदिर के बारे में विस्तार से जानने के लिए देखिए इंडिया न्यूज का शो धर्म चक्र.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App