रायपुरः Chhattisgarh Raman Singh BJP Defeat Five Big Reasons: छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के नतीजे लगभग सामने आ चुके हैं जहां कांग्रेस ने प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी की है. जिसमें राज्य की 90 विधानसभा सीटों में से कांग्रेस ने 60 से ज्यादा सीटों पर जीत दर्ज करते हुए अपना परचम लहराया है. राज्य के मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने राज्य में हुई 74.03 प्रतिशत वोटिंग के बाद कहा था कि इतने बड़े पैमाने पर वोटिंग होना दिखाता है कि जीत उनकी ही होगी. लेकिन आज आए नतीजों ने उनके इस दावे को गलत साबित कर दिया. 15 साल तक सत्ता में रहे रमन सिंह चौथी बार सरकार बनाने में असफल रहे तो कांग्रेस के लिए 15 सालों का सूखा राज्य में खत्म हुआ है.

छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 5 रैलियां और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की 22 ताबड़तोड़ रैलियों के बाद भी राज्य में रमन सरकार को हार का मुंह देखना पड़ा है. कांग्रेस एक तरफ भ्रष्टाचार की बात पकड़े हुए है तो दूसरी तरफ रमन सरकार की हार के और भी कई कारण सामने आ रहे हैं. जानिए क्या है छत्तीसगढ़ में बीजेपी की इस बड़ी हार के पांच कारण.

छत्तीसगढ़ में बीजेपी की हार के पांच बड़े कारणः

पहला कारण- एंटी इनकबेंसी फेक्टर
छत्तीसगढ़ में बीजेपी की रमन सिंह सरकार को एक बड़ी हार का सामना करना पड़ा है. जिसमें सबसे बड़ा कारण एंटी इनकबेंसी फेक्टर को माना जा रहा है. 15 साल सत्ता में रहने के बाद भी राज्य में हुए विकास से जनता असंतुष्ट थी जिसके चलते इन विधानसभा चुनावों में एक बड़े प्रतिशत में वोटिंग हुई और कांग्रेस ने एक तरफा जीत दर्ज की. राज्य की जनता ने डॉ. रमन सिंह के उस दावे को गलत साबित कर दिया कि राज्य की जनता विकास से खुश है और यहां कोई इनकबेंसी फेक्टर नहीं है.

दूसरा कारण- पीडीएस घोटालेः
छत्तीसगढ़ राज्य वैसे तो प्राकृतिक संपदाओं से भरपूर राज्य है लेकिन यहां की जनता ज्यादातर गरीब और आदिवासी है. ऐसे में लगातार सामने आए अनाज वितरण में घोटालों ने भी राज्य की रमन सिंह सरकार पर से उनका विश्वास कम किया है. एक अनुमान के मुताबिक राज्य में लाखों करोड़ों का पीडीएस घोटाला हुआ है जिसमें गरीब आदिवासियों के लिए दिये जाने वाले अनाज का घोटाला किया गया.

तीसरा कारण- कार्यकर्ताओं की नारजगीः
छत्तीसगढ़ राज्य में बीजेपी की सरकार पिछले 15 सालों से है जिसके मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह रहे हैं लेकिन इस बार यानी की छत्तीसगढ़ चुनाव 2018 के लिए टिकट बंटवारे में कार्यकर्ताों की बात न सुने जाने और उनको महत्व न दिए जाने के चलते राज्य के बीजेपी कार्यकर्ताओं में भारी रोष था और कार्यकर्ताओं के इसी गुस्से को भी रमन सिंह की हार का एक बड़ा कारण माना जा रहा है.

चौथा कारण- जनता की नाराजगीः
छत्तीसगढ़ में एकरफ बीजेपी के कार्यकर्ताओं की नाराजगी और घोटालों से अलग बात करें तो पिछले 15 सालों से सत्ता में बैठे रमन सिंह ने राज्य में विकास के जितने वाले किए उनसे जनता संतुष्ट नहीं दिखी, 15 सालों में भी राज्य का विकास न कर पाने के चलते राज्य की रमन सरकार को जनता की नाराजगी झेलनी पड़ी जिसका सामना उन्हें इस विधानसभा चुनाव में करना पड़ा है.

पांचवा कारण- परियोजनाओं और स्कीमों का फेल हो जाना
छत्तीसगढ़ की सत्ता में पिछले 15 सालों से बैठे डॉ. रमन सिंह बेशक राज्य में विकास के लाख दावें करें लेकिन वर्तमान परिस्थियों की मानें तो राज्य सरकार द्वारा चलाई गई ज्यादातर परियोजनाएं और गरीब कल्याण स्कीम या तो बीच में रुक गई या सरकारी उदासीनता के चलते फेल हो गई. जिसमें प्रमुख तौर पर तीन चीजों को गिना जा सकता है. जिसमें पीडीएस घोटाला इसमें गरीबों के लिए दिए जाने वाले राशन पर बड़े स्तर पर घोटाला हुआ तो दूसरी तरफ राज्य सरकार द्वारा गरीब लोगों के लिए चलाइ गई मुफ्त साइकिल योजना या गरीबों को मुफ्त साइकिल देने की परियोजना ये तीनों ही बड़े स्तर पर फेल रही हैं.

Chhattisgarh Election Results 2018 Live Updates: Leads, BJP -19, Congress- 62 छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का जलवा लेकिन अगला मुख्यमंत्री कौन ? भूपेश बघेल या टीएस सिंहदेव

Chhattisgarh Election Results 2018 Full Winner List LIVE Updates: छत्तीसगढ़ में रमन सिंह सरकार बीजेपी की बड़ी हार, कांग्रेस जीती, विधानसभा चुनाव 2018 के विजेता उम्मीदवारों की फुल लिस्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App