रायपुर. भूपेश बघेल को छत्तीसगढ़ का नया मुख्यमंत्री चुना गया है. हाल ही में हुए 3 राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने जबरदस्त जीत हासिल की है. छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद की दावेदारी को लेकर टीएस सिंह देव, ताम्रध्वज साहू, चरणदास महंत का भी चल रहा था, लेकिन भूपेश बघेल ने सबको पीछे छोड़ दिया. बताया जा रहा है कि टीएस सिंह देव ने खुद उनके नाम का प्रस्ताव रखा. आइए आपको बताते हैं छत्तीसगढ़ के नए सीएम भूपेश बघेल की कुछ अहम बातें :

-23 अगस्त 1961 को छत्तीसगढ़ के दुर्ग में जन्मे भूपेश बघेल का राजनीतिक सफर 1980 से कांग्रेस के साथ से शुरू हुआ था. जिसमें वह यूथ कांग्रेस के नेता के रूप में सामने आए.

-1990 से 1994 तक इन्हें जिला युवक कांग्रेस कमेटी दुर्ग (ग्रामीण) का अध्यक्ष चुना गया. इसके बाद वह 1993 से 2001 तक मध्य प्रदेश हाउसिंग बोर्ड के निदेशक के पद पर काबिज रहे. छत्तीसगढ़ के अलग राज्य बनने के बाद भूपेश बघेल को कैबिनेट मंत्री चुना गया.

-2004 में हुए लोकसभा चुनावों में भूपेश बघेल को दुर्ग से उम्मीदवार चुना गया था. तो वहीं अक्टूबर 2014 में उन्हें प्रदेश कांग्रेस का अध्यक्ष भी सौंपा गया और तब से लेकर अब तक वह इस पद पर डटे हुए हैं. हाल ही में छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों मिली जीत का सेहरा भी बघेल बंधा जा रहा है.

-भूपेश बघेल की सबसे बड़ी ताकत ये है कि वे बेहद निड़रता से विपक्षी दलों पर वार करते हैं. फिर चाहें उनके सियासी दांव-पेच हो या फिर किसी भी विवाद को लेकर विपक्षी दल पर निशाना साधते हुए पदयात्रा करना.

-15 साल छत्तीसगढ़ की सत्ता में रही बीजेपी की रमन सिंह सरकार हो या अजीत जोगी, दोनों के आगे भूपेश बघेल मजबूती से अड़े रहे और लंबे समय तक पार्टी के लिए सड़क पर संघर्ष किया.

Chhattisgarh CM Choice on Shakti App: कांग्रेस कार्यकर्ता चुनेंगे छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री, शक्ति एप के जरिए बताएंगे राहुल गांधी को अपनी पसंद का उम्मीदवार

Congress New Power Center: अब सोनिया गांधी के 10 जनपथ रोड से नहीं राहुल गांधी के 12 तुगलक लेन से चलती है कांग्रेस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर