नई दिल्ली: देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया SBI ने अपने ग्राहकों के लिए एक नई सेवा लेकर आई है. एसबीआई की ओर से बचत प्लस खाते यानी कि सेविंग्स प्लस अकाउंट की सुविधा ग्रहकों के लिए लाई गई है. सेविंग्स प्लस अकाउंट एक सेविंग्स अकाउंट है जिसे MODS (मल्टी ऑप्शन डिपोजिट स्कीम) से लिंक किया जाता है. एसबीआई की कॉर्पोरेट वेबसाइट www.sbi.co.in के अनुसार, एसबीआई के बचत प्लस खाते में, बचत खाते की सीमा रेखा से अधिक की बचत राशि को डिपोजिट अकाउंट या फिर फिक्सड अकाउंट में स्थानांतरित कर दिया जाता है.

आपको बता दें कि किसी ग्राहक को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में सेविंग्स प्लस अकाउंट खोलना है तो उसे 1000 रुपये या उसके गुणकों के समान राशि में खाता खोल सकते हैं. एसबीआई के पोर्टल के अनुसार, जमा की अवधि 1-5 वर्ष के बीच होती है. हम आपको बता रहे हैं एसबीआई के सेविंग्स प्लस अकाउंट से संबंधित कुछ जरूरी बातें. इन बातों को ध्यान में रखकर आप अपना बचत प्लस खाता खोलने के संबंध में विचार कर सकते हैं.

कौन खोल सकता है बचत प्लस खाता
एसबीआई में सेविंग्स प्लस अकाउंट वह हर व्यक्ति खोल सकता है, जो बैंक में रेगुलर अकाउंट खोलने के योग्य हो. इस अकाउंट को सिंगल और ज्वाइंट दोनों खातों के रूप में खोला जा सकता है.

क्या होता है ब्याज दर
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया जो ब्याज दर रेगुलर बचत खातों पर लगाता है वही ब्याज दर बचत प्लस खाते पर भी लागू होती है. एसबीआई एक लाख रुपये से कम जमा कराई गई रकम पर 3.5 फीसद प्रति वर्ष की ब्याज दर लगाता है. वहीं एक लाख रुपये से अधिक की राशि बैंक आपको 3 फीसद प्रति वर्ष की ब्याज दर लगाएगी.

कितना रहती जमा राशि
बचत खाते में किसी भी अतिरिक्त राशि जो 25,000 रुपये से ऊपर हो उसे टर्म डिपोजिट अकाउंट में ट्रांसफर किया जाता जिसमें, न्यूनतम राशि 10,000 रुपये और 1,000 के गुणकों के रूप में होती है. इसका मतलब है कि MOD खाते में स्थानांतरण के लिए न्यूनतम सीमा राशि 35,000 रुपये होगी.

कितनी न्यूनत राशि की पड़ेगी जरूरत
बचत प्लस खाता खुलवाने ग्राहक ध्यान दें कि उन्हें अपने इस खाते में मंथली एव्रेज बैलेंस यानी कि MAB रखना जरूरी होता है. शहरों में जिन ग्राहकों के पास बचत खाता है उन्हें अपने खाते में 3,000 रुपये MAB रखना होता है. वहीं सेमी अर्बन इलाकों और ग्रामीण इलाकों में इसकी सीमा घटकर 2,000 रुपये सेमी अर्बन के लिए 1,000 रुपये ग्रामीणों के लिए रखी गई है.

सेविंग्स प्लस अकाउंट के दूसरे फायदे
ग्राहकों को सेविंग्स प्लस अकाउंट के साथ दूसरी सुविधांए जैसे- एटीएम कार्ड, मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग भी उपलब्ध कराई जाती हैं. इसके अलावा ग्राहक मल्टी ऑप्शन डिपोजिट के तहत लोन भी ले सकते हैं.

Post Office Recurring Deposit RD Rules: पोस्ट ऑफिस में आवर्ती जमा आरडी खाता कैसे खोलें, लेट पेमेंट शुल्क और मैच्योरिटी से पहले निकासी से जु़ड़ी जानकारी

SBI Immediate Payment Service Free: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की इमीडिएट पेमेंट सर्विस 1 अगस्त से होगी फ्री, ग्राहकों को होगा इतना फायदा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App