नई दिल्ली. इंडिया पोस्ट के पास देश भर में 1.5 लाख से अधिक डाकघरों की एक शाखा है. ग्राहक इसमें अपना पीपीएफ अकाउंट खुलवाकर कम रकम के साथ भी निवेश कर सकते हैं. इसपर पोस्ट ऑफिस निर्धारित दर से ब्याज देता है. डाकघर ब्याज दर नौ छोटी बचत योजनाओं पर मिलता है. जिसमें 15 वर्षीय सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) शामिल है. वर्तमान में, सरकार छोटी बचत योजनाओं पर लागू ब्याज दरों की समीक्षा करती है- जैसे कि समय जमा (या सावधि जमा, एफडी), आवर्ती जमा या रेकरिंग डिपॉजिट, मासिक आय योजना और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना जो त्रैमासिक आधार पर हैं.

विशेषज्ञों का कहना है कि डाकघर की छोटी बचत योजनाएं आसान निवेश उपकरण हैं, क्योंकि वे ब्याज की एक अच्छी दर प्रदान करते हैं. इसके अलावा, ये बचत योजनाएं जोखिम पर कम हैं और समाज के हर वर्ग के लिए डिज़ाइन की गई हैं. वित्त वर्ष 2019-20 की तीसरी तिमाही के लिए, सरकार ने ब्याज दरों को मौजूदा स्तरों पर अपरिवर्तित रखा. इंडिया पोस्ट की वेबसाइट indiapost.gov.in के अनुसार, छोटी बचत योजनाओं में निवेश से 4-8.6 प्रतिशत लाभ मिलता है. जानें ब्याज दर-

  • डाकघर बचत जमा में ब्याज 4 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • एक साल जमा योजना में ब्याज 6.90 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • दो साल जमा योजना में ब्याज 6.90 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • तीन साल जमा योजना में ब्याज 6.90 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • पांच साल जमा योजना में ब्याज 7.70 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • पंचवर्षीय आवर्ती जमा योजना में ब्याज 7.20 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • पंचवर्षीय वरिष्ठ नागरिक बचत योजना में ब्याज 8.60 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • पंचवर्षीय मासिक आय योजना में ब्याज 7.60 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • पंचवर्षीय राष्ट्रीय बचत प्रमाणपत्र योजना में ब्याज 7.90 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • सार्वजनिक भविष्य निधि योजना में ब्याज 7.90 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • किसान विकास पत्र योजना में ब्याज 7.60 प्रतिशत की दर से मिलता है.
  • सुकन्या समृद्धि खाता योजना में ब्याज 8.40 प्रतिशत की दर से मिलता है.

Also read, ये भी पढ़ें: Post Office Recurring Deposit RD Account: पोस्ट ऑफिस में आरडी अकाउंट खुलवाने से पहले जानें, कितना मिलेगा ब्याज और कब तक के लिए कर सकते हैं पैसा जमा

How To Make Money In Mutual Funds: शेयर बाजार में पैसा लगाकर करें कमाई, जानें सबसे अच्छे म्यूचल फंड्स और किसमें कितना फायदा

Monetary Policy Committee Repo Rate: मौद्रिक नीति समिति ने रेपो रेट 5.15 फीसदी पर रखा बरकरार, रिवर्स रेपो रेट 4.90 पर्सेंट, बैंक रेट 5.40 फीसदी, सरकार के कदम से अर्थव्यवस्था में और सुस्ती के आसार

How to Invest in Gold: गोल्ड में पैसा इंवेस्ट करने से पहले जानें इससे मिलने वाले फायदे और कहां करें निवेश, सोने में कितना प्रॉफिट