PNB Fixed Deposit Interest Rates Revised: पंजाब नेशनल बैंक पीएनबी ने नवंबर महीने में फिक्स्ड डिपॉजिट एफडी ब्याज दरों में बदलाव किया है. एफडी ब्याज दरों में किए गए ये बदलाव 1 नवंबर 2019 से प्रभावी हो गए हैं. बैंक ने चुनिंदा फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट पर ब्याज दरों में 20 बेसिस प्वाइंट यानी 0.20 फीसदी प्वाइंट की कटौती की है. पंजाब नेशनल बैंक द्वारा पीएन फिक्स्ड डिपॉजिट पर निर्धारित नई ब्याज दरों के बारे में अधिक जानकारी हासिल करने के लिए ग्राहक बैंक की आधिकारिक वेबसाइट pnbindia.in पर जा सकते हैं.

नई ब्याज दर 2 करोड़ रुपए तक के फिक्स्ड डिपॉजिट जिनका मैच्योरिटी पीरियड 7 दिन से 10 साल तक हो पर लागू होगा. इस तिमाही में पंजाब नेशनल बैंक, पीएनबी फिक्सड डिपॉजिट अकाउंट पर ब्याज 6 फीसदी है. पीएनबी एफडी अकाउंट पर वरिष्ठ नागरिकों को 6.9 फीसदी की दर पर ब्याज दिया जा रहा है. पिछली तिमाही में पीएनबी के फिक्सड डिपॉजिट पर 6.25 फीसदी की दर पर ब्याज दिया जा रहा था. वहीं वरिष्ठ नागरिकों के लिए ब्याज दर 6.8 फीसदी थी. इस तिमाही में ब्याज दर में 0.20 फीसदी की कमी की गई है. हालांकि अन्य शॉर्ट टर्म पीएनबी फिक्सड डिपॉजिट पर ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया गया है.

सामान्य और वरिष्ठ नागरिकों के लिए PNB FD अकाउंट पर 1 नवंबर 2019 से लागू Interest Rates-

वहीं सामान्य नागरिकों के लिए मैच्योरिटी अवधि 7 दिन से 10 वर्ष तक पर 2 करोड़ तक की एफडी पर ब्याज दर 4.5 फीसदी से 6.4 फीसदी रखी गई हैं. बता दें कि फिक्स्ड डिपॉजिट एफडी की दरों में समय-समय पर बदलाव होता रहता है. मालूम हो कि भारत के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने 10 नवंबर को ही फिक्स्ड डिपॉजिट अकाउंट पर ब्याज दरों में बदलाव किया है. साथ ही मैच्योरिटी अवधि में कटौती की है.

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने हाल ही में रेपो रेट में कमी की है. पिछले एक साल में रेपो रेट 1.10 प्रतिशत तक कम हुई है. जिससे बैंकों ने लोन की ब्याज दरों में भी कमी की है. इसी कारण अन्य बैंक भी अपने जमा खातों की ब्याज दरों में कटौती कर रहे हैं. इस तिमाही से आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक के एफडी पर भी ब्याज दरें कम हुई हैं.

Fixed Deposit Or Fixed Maturity Plans: फिक्सड डिपॉजिट या फिक्सड मैच्योरिटी प्लान में करें सही चुनाव, जानें एफडी के फायदे

India Falls in World Economic Forum Index: आर्थिक मोर्चे पर नरेंद्र मोदी सरकार के लिए एक और बुरी खबर, वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम ने भारत की रैंकिंग गिराकर 58 से 68 की

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App